शिवराज सरकार के 14 मंत्री वर्तमान में नहीं है विधायक, कांग्रेस खटखटाएगी कोर्ट का दरवाजा

शिवराज सरकार के 14 मंत्री वर्तमान में नहीं है विधायक, कांग्रेस खटखटाएगी कोर्ट का दरवाजा

भोपाल: मध्‍य प्रदेश्‍ में कफी सियासी हलचल के बाद शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है. हालांकि शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट में 14 मंत्री ऐसे शामिल हैं जो वर्तमान में विधायक नहीं हैं. और 14 मंत्री पूर्व विधायक हैं. संभवतः मध्‍य प्रदेश में यह पहला मौका है, जब मंत्रिमंडल में 14 मंत्री एक साथ ऐसे होने वाले है जो वर्तमान में कही के भी विधायक नहीं हैं.  

इन नामों में गोविंद सिंह राजपूत, तुलसीराम सिलावट, इमरती देवी, प्रद्युम्न सिंह तोमर, महेंद्र सिंह सिसोदिया, डॉ.प्रभुराम चौधरी, बिसाहूलाल सिंह, ऐदल सिंह कंषाना, हरदीप सिंह डंग, राजवर्द्धन सिंह दत्तीगांव, बृजेंद्र सिंह यादव, गिर्राज डंडौतिया, सुरेश धाकड़ और ओपीएस भदौरिया शामिल हैं. इन सभी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया हुआ था. इसका वजह से ही कमल नाथ सरकार का पतन हुआ. इस बारें में कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा ने कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फिर कानून का उल्लंघन किया है. पहले बिना कैबिनेट के सरकार चलाई और राष्ट्रपति से शिकायत की तो पांच मंत्री बनाए, जबकि कम से कम 12 मंत्री बनाने चाहिए थे. अब मंत्रिमंडल विस्तार में विधायक संख्या से ज्यादा मंत्री बनाकर कानून तोड़ा गया है. इसके खिलाफ कांग्रेस अदालत जाएगी.
 
बता दें की शिवराज कैबिनेट में ऐसे मंत्री भी है जो पहली बार बने है. इनके नाम है ऐदल सिंह कंषाना, प्रेम सिंह पटेल, ओमप्रकाश सकलेचा, उषा ठाकुर, अरविंद भदौरिया, डॉ. मोहन यादव, हरदीप सिंह डंग, राजवर्द्धन सिंह दत्तीगांव, भारत सिंह कुशवाहा, इंदर सिंह परमार, रामखेलावन पटेल, रामकिशोर कावरे, बृजेंद्र सिंह यादव, गिर्राज डंडौतिया, सुरेश धाकड़ और ओपीएस भदौरिया.

टिक टॉक के साथ आईआईएम इंदौर नहीं बनाएगा शार्ट वीडियो, नए विकल्प की तलाश शुरू

यूपी में कोरोना के 817 नए मामले, इस जिले में फिर लगा पूर्ण लॉकडाउन

शिवराज मंत्रिमंडल के 24 मंत्री है करोड़पति, सबसे ज्यादा अमीर है यह विधायक