बिहार की बेटी ने बढ़ाया देश का मान, मुजफ्फरपुर की शिवांगी बनीं भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट

बिहार की बेटी ने बढ़ाया देश का मान, मुजफ्फरपुर की शिवांगी बनीं भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट

पटना:अभी अभी मिली सूचना के आधार पर सोमवार का दिन भारतीय नौसेना (Indian Navy) के लिए ऐतिहासिक दिन रहा. सब लेफ्टिनेंट शिवांगी भारतीय नौसेना की पहली महिला पायलट (women pilot) बन गईं. कोच्चि नवल बेस पर सोमवार को उन्होंने ऑपरेशन ड्यूटी ज्वाइन भी कर ली. शिवांगी बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली हैं. इस खबर से मुजफ्फपुर सहित पूरे बिहार में खुशी की लहर है.

शिवांगी ने जाहिर की खुशी: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शिवांगी ने इस खास मौके पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें इस दिन का लंबे समय से इंतजार था. आखिरकार यह दिन मेरी जिंदगी में आ ही गया. उन्होंने कहा कि वह अब तीसरे चरण की ट्रेनिंग पूरी करने की तरफ ध्यान लगा रही हैं. शिवांगी बताती हैं कि प्लेन उड़ाने के जेंडर मायने नहीं रखता है. हमें शुरुआती ट्रेनिंग के दौरान बताया गया था कि प्लेन को नहीं पता होता कि उसे महिला चला रही हैं या पुरुष. प्लेन उड़ाने का हुनर आपके पास होना चाहिए यह मायने रखता है.

कौन हैं शिवांगी?

- शिवांगी बिहार  के मुजफ्फरपुर  की रहने वाली हैं, उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा मुजफ्फरपुर के डीएवी पब्लिक स्कूल से  पूरी की.

- प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद शिवांगी ने सिक्किम  मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक किया.

- 27 एनओसी कोर्स के तहत उन्होंने एसएसी (पायलट) परीक्षा पास की और नेवी में कमिशन हुईं. शुरुआती ट्रनिंग के बाद     शिवांगी ने जून 2018 में ही नेवी में शामिल हो गईं.

- शिवांगी के पिता सरकारी स्कूल में प्रिंसिपल हैं और मां घर का काम संभालती हैं. बेटी की इस उपलब्धि से घर में हर्ष का माहौल है.

सर्विलांस एयरक्राफ्ट उड़ाएंगी शिवांगी: जानकारी के लिए आपको बता दें कि शिवांगी बताती हैं कि उनके माता-पिता हमेशा सपोर्टिव रहे हैं. वहीं 24 वर्षीय शिवांगी डोनियर सर्विलांस एयरक्राफ्ट उड़ाएंगी. इस प्लेन को कम दूरी के समुद्री मिशन पर भेजा जाता है. जंहा इसमें अडवांस सर्विलांस रेडार, इलेक्ट्रॉनिक सेंसर और नेटवर्किंग जैसी कई खासियत है. इन खासियत के दम पर यह प्लेन भारतीय समुद्र क्षेत्र पर निगरानी रखेगा. 

कमलनाथ सरकार में ये क्या पढ़ रहे बच्चे ? 10वीं की किताब में गाँधी जी को बताया 'कुबुद्धि'

बांग्लादेश से घुसपैठ रोकने के लिए भारतीय सेना इस हाइटेक तरीके का कर रही उपयोग

शौचालय गई नाबालिग के साथ दुष्कर्म, पड़ोसी ही निकला आरोपी