'अभी भी अंधभक्त कहेंगे वाह', मोदी सरकार पर बरसी शिवसेना

मुंबई: केंद्र सरकार द्वारा तीनों कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को वापस लिए जाने के बाद से विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है। इस लिस्ट में शिवसेना भी शामिल है। हाल ही में शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में वह लिखते हैं- 'बैल कितना भी अड़ियल हो, किसान खेत जुतवा ही लेता है। जय जवान, जय किसान!' इसी के साथ शिवसेना के मुखपत्र सामना में भी केंद्र की मोदी सरकार पर निशाने साधे गए हैं। जी दरअसल संपादकीय में लिखा गया है, 'जिन किसानों को पाकिस्तानी, खालिस्तानी कह कर बदनाम किया गया उन्हीं के सामने केंद्र सरकार ने सफेद झंडा क्यों फहराया? पूर्व वित्त मंत्री पी।चिदंबरम के हवाले से लिखा गया है कि जो काम आंदोलनों से नहीं हो सका वो आगामी चुनावों में हार के डर ने करवा दिया।'

इसी के साथ सामना संपादकीय में यह भी लिखा गया है, 'राहुल गांधी ने जनवरी में कहा था- सरकार को यह तीन काला कानून पीछे लेना ही पड़ेगा, मैंने क्या कहा था, यह ध्यान रखो- राहुल गांधी को पप्पू कहकर अपमानित करनेवालों को अब यह याद रखना चाहिए। लखीमपुर खीरी में आंदोलनरत किसानों को भाजपा के मंत्रीपुत्र ने कुचलकर मार डाला। उस ‘जलियांवाला बाग’ जैसे हत्याकांड के विरोध में पूर्ण बंद का आह्वान करनेवाला महाराष्ट्र पहला राज्य था।'

आगे लिखा गया है, 'न्याय, सत्य और राष्ट्रवाद की लड़ाई में महाराष्ट्र ने हमेशा ही निर्णायक भूमिका अपनाई है, इसके आगे भी ऐसी ही भूमिका अपनानी पड़ेगी। तीन कृषि कानून को वापस लेने के लिए आखिरकार केंद्र सरकार को मजबूर होना पड़ा। किसानों की एकजुटता की विजय हुई ही है। पीछे नहीं हटेंगे, ऐसा कहनेवाला अहंकार पराजित हुआ। परंतु अभी भी अंधभक्त कहेंगे वाह ‘क्या यह साहब का मास्टर स्ट्रोक!' वहीं इससे पहले संजय राउत ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए भी मोदी सरकार को निशाने पर लिया था।

MSRTC Strike: हड़ताल ख़त्म न करने पर नौकरी से बर्खास्त किए गए 238 कर्मचारी

आज एक हाई-प्रोफाइल ओपनिंग गेम में एटीके मोहन बागान का मुकाबला, केरला ब्लास्टर्स एफसी से

'PM मोदी ने हमारी बात मान ली है', कृषि कानून वापस लेने पर बोले संजय राउत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -