कुलभूषण को लेकर शिवसेना ने सामना में लिखा, उन्हें छुड़ाना ही पुरुषार्थ

कुलभूषण को लेकर शिवसेना ने सामना में लिखा, उन्हें छुड़ाना ही पुरुषार्थ

मुंबई: शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि पाक द्वारा गिरफ्तार किए गए भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को लाने के लिए बल प्रयोग करना पड़े तो उसमें भी पीछे ना हटने की बात कही हैं. सामना में लिखा है कि, 'हमारी सरकार जाधव के लिए हरसंभव प्रयत्न कर रही है. किन्तु ‘लातों के भूत बातों से नहीं मानते’, पाकिस्तान के बारे में यही सत्य है.

शिवसेना ने लिखा है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद इंडियन एयर फ़ोर्स ने पाकिस्तान में घुसकर वहां के आतंकी ठिकानों पर हमले किए. हमारी एयर फ़ोर्स का वीर अभिनंदन पाकिस्तानियों के हाथ लग गया, किन्तु अंतर्राष्ट्रीय दबाव के परिणाम और मोदी सरकार के डर की वजह से पाकिस्तानियों ने अभिनंदन को छोड़ दिया. ऐसा भाग्य कुलभूषण जाधव और उनके परिवार को भी क्यों न मिले?'

शिवसेना ने आगे लिखा है कि, 'जाधव इंडियन नेवी के पूर्व अधिकारी हैं. उन्होंने देशसेवा की है और हिंदुस्तान के बेटे के रूप में ही पाकिस्तान उन्हें गिरफ्तार कर एक प्रकार से ज्यादती कर रहा है. अभिनंदन की सही-सलामत भारत वापसी हो गई इसकी खुशी है. किन्तु कुलभूषण जाधव को छुड़वाकर सही-सलामत मातृभूमि में लाना ही सरकार का वास्तविक पुरुषार्थ होगा. अगर मोदी और शाह ने ठान लिया तो क्या मुश्किल है? जाधव की मुक्ति के लिए हमें बलप्रयोग करना पड़ेगा, हम इतना ही कह सकते हैं.'

चंद्रबाबू नायडू को एक और झटका, वर्ल्ड बैंक ने $ 300 मिलियन फंडिंग करने से किया मना

चार साल में दोगुनी हुई केंद्र सरकार की पेट्रोल-डीजल से कमाई

कुलभूषण मामला: पाक के दावे पर भारत का पलटवार, कहा- झूठ बोलना उनकी मज़बूरी