'हम पीठ में छुरा नहीं घोंपते', शिवसेना-BJP की संभावित दोस्ती पर बोले संजय राउत

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बीते शुक्रवार को एक समारोह में केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे समेत कुछ नेताओं को पूर्व और संभावित भावी सहयोगी कहकर संबोधित किया। वहीं उनके ऐसा करने से महाराष्ट्र की राजनीति में बदलाव की अटकले लगने लगी हैं। वहीं दूसरी तरफ भाजपा और शिवसेना के बीच गठबंधन की अटकलों पर संजय राउत ने सबकुछ स्पष्ट कर दिया है। हाल ही में संजय राउत ने कहा, 'महाराष्ट्र सरकार पांच साल तक सत्ता में रहने के लिए प्रतिबद्ध है और भाजपा पर तंज कसते हुए कहा कि शिवसेना किसी की पीठ में छुरा नहीं घोंपती।'

आप सभी को बता दें कि उद्धव ठाकरे सरकार यानी शिवसेना ने साल 2019 के विधानसभा चुनावों के बाद भाजपा के साथ रिश्ते तोड़ लिए थे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। ऐसे में अब भाजपा के साथ संभावित गठबंधन पर शिवसेना सांसद संजय राउत का कहना है कि, 'महाराष्ट्र सरकार 5 साल तक सत्ता में रहने के लिए प्रतिबद्ध है। शिवसेना अपने वादों पर काम करती है। अगर किसी को सीएम (भविष्य के मित्र) की टिप्पणी पर खुशी हो रही है, तो इसे 3 साल के लिए रहने दें। शिवसेना किसी की पीठ में नहीं छुरा घोंपती।'

क्या कहा था उद्धव ठाकरे ने- जी दरअसल बीते शुक्रवार को समारोह के दौरान मंच पर उपस्थित नेताओं को उद्धव ठाकरे ने ‘मेरे पूर्व, वर्तमान और अगर हम साथ में आते हैं तो भावी सहयोगी कहकर संबोधित किया।’ इस कार्यक्रम में महाराष्ट्र के भाजपा नेता दानवे और राज्य सरकार के वरिष्ठ मंत्री तथा कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट मंच पर मौजूद थे। वहीं कार्यक्रम के बाद एक अन्य समारोह में संवाददाताओं से बातचीत में मुख्यमंत्री ने यह साफ किया था कि उन्होंने पूर्व और वर्तमान सहयोगी इसलिए कहा था क्योंकि मंच पर सभी दलों के नेता थे। इसके अलावा उन्होंने कहा, 'अगर सब साथ आते हैं तो वे भावी सहयोगी भी बन सकते हैं। समय बताएगा।'

MP: वैक्सीनेशन न कराने पर प्रशासन ने काटा बिजली, पानी का कनेक्शन!

खुशखबरी! LPG सिलेंडर की बुकिंग पर बंपर ऑफर, मिल रहा है 2500 रुपये से अधिक का फायदा

MP: प्रेम-प्रसंग में युवक पर डाला मिट्टी का तेल और लगा दी आग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -