न्यास ने भेजी नई शिक्षा नीति की सिफारिश

नई दिल्ली : शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास ने नई शिक्षा नीति की सिफारिश मानव संसाधन विकास मंत्रालय को भेजी है। न्यास ने कहा कि वर्तमान हालातों को देखते हुये शिक्षा नीति में परिवर्तन की जरूरत है। हालांकि अभी मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तरफ से किसी तरह की जानकारी सामने नहीं आई है लेकिन न्यास के पदाधिकारियों को उम्मीद है कि सिफारिशों पर मंत्रालय ध्यान अवश्य देगा। गौरतलब है कि शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास राष्ट्रीय स्वयंसेवक संगठन से जुड़ा हुआ है।

मातृ भाषा में मिले निर्देश

बताया गया है कि संघ ने जो सिफारिश की है, उसमें इस बात का उल्लेख किया गया है कि स्कूली शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक विद्यार्थियों को जो भी दिशा निर्देश दिये जाये, उसकी भाषा बजाय अंग्रेजी के, मातृ भाषा में हो। सिफारिश में यह भी कहा गया है कि विदेशी भाषाओं को पढ़ने का विकल्प खत्म किया जाना चाहिये। इसी तरह यूजीसी की स्काॅलरशिप के बारे में भी सिफारिश की गई है। जानकारी के अनुसार यह कहा गया है कि जो विद्यार्थी देश हित में रिसर्च करना चाहत है, उन्हें ही स्काॅलरशिप दी जाना चाहिये। बताया गया है कि सिफारिशों के मामले में संस्थान के लोगों ने मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से भी मुलाकात की है।

लोढा समिति की सिफारिशें लागू करना आसान नही : ठाकुर

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -