Sheroes Hangout, जो है एसिड अटैक महिलाओ के लिए

महिलाओ पर अत्याचार कई सालों से चले आ रहे हैं। बहतु से कानून बदल गए बहुत से लोग बदल गए। लेकिन महिलाओ पर हो रहे अत्याचार खत्म नही हुए। आज भी महिलाएं सुरक्षित नही है। ऐसे बहुत से केस सुने होंगे आपने जिसमे महिलाओ पर एसिड अटैक किये गए हैं। एसिड अटैक से महिलाओ की ज़िन्दगी जैसे नरक बन जाती है। ऐसी महिलाओ का समाज में रहना दूभर हो जाता है कई तरह की मुश्किलो का सामना करना पड़ता है। कुछ महिलाएं इसे ही अपनी किस्मत बना लेती हैं और कुछ इसका डटकर सामना करती हैं।

आज हम कुछ उन्ही महिलाओ के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस परिस्थिति का सामना कर रही हैं। ये महिलाएं समाज को के सन्देश दे रही हैं। ये आपको देखने को मिलेगा आगरा के शिरोज़ हैंगआउट में जो एक मिसाल कायम कर रहे हैं। इस रेस्टोरेंट में आपको सभी वो महिलाएं मिलेंगी और एसिड अटैक का शिकार हुई हैं। यहाँ का सारा काम यही महिलाएं करती हैं खाना बनाने से लेकर खाना परोसने तक का। ये काम कर के महिलाएं अपनी जीविका चलती है। इस रेस्टोरंट को कानपुर के अलोक दीक्षित और आशीष शुक्ला ने शुरू किया है।

20 आलीशान घर और 700 लक्ज़री गाड़ियों के मालिक हैं पुतिन

यहां दूसरों की बीवी चुरा कर रचाई जाती है शादी

स्‍लीपी हॉलो: जहाँ महीनो बाद खुलती है लोगो की नींद

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -