शहला बनी JNU चुनाव में जीत दर्ज करने वाली पहली कश्मीरी लड़की

शहला बनी JNU चुनाव में जीत दर्ज करने वाली पहली कश्मीरी लड़की

नई दिल्ली : शहला राशिद शोरा को देश की प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के छात्रसंघ चुनावों में केंद्रीय पैनल चुनाव लड़ने और जीतने वाली पहली कश्मीरी लड़की बन गई हैं. शहला ने वामपंथी पार्टी भाकपा-माले की छात्र शाखा ऑल इंडिया स्टूडेंट्स असोसिएशन (AISA) के टिकट पर JNU छात्रसंघ के उपाध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की. उन्होंने कल ‘लाल सलाम’ के नारों के बीच उपाध्यक्ष पद की शपथ ली. शहला JNU से कानून एवं प्रशासन में एमफिल कर रही हैं.

शहला को इस साल NU छात्र चुनावों में सबसे अधिक 1,387 वोट मिले. उन्होंने भाजपा समर्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की उम्मीदवार वैलेनटाइना ब्रह्मा को 234 वोटों से हराया. शहला ने बताया कि ‘इंजीनियरिंग एवं प्रबंधन का अध्ययन करने के बाद मैं कॉरपोरेट जगत में आई, लेकिन जल्द ही इससे भी मन भर गया. कार्यकर्ता बनकर मैंने किशोर न्याय और कश्मीर में तेजाब हमलों का मुद्दा उठाया लेकिन मुझे महसूस हुआ कि वहां का राजनीतिक दायरा काफी सीमित है .

उन्होंने बताया कि ‘यहाँ JNU में मैंने पाया कि यहां अपनी राजनीतिक भावना को जाहिर करने की बिलकुल सही जगह है.' शहला ने बताया कि वह ‘दक्षिणपंथी विचारधारा के उदय से मुकाबला करना चाहती हैं ताकि असल इतिहास को बदलने से इसे रोका जा सके.'