शास्त्री ने ऑस्ट्रेलिया की हर बाधा पर काबू पाने के लिए सिराज की तारीफ की

By Emmanual Massey
Jan 22 2021 03:19 PM
शास्त्री ने ऑस्ट्रेलिया की हर बाधा पर काबू पाने के लिए सिराज की तारीफ की

ऑस्ट्रेलिया की धरती पर ऐतिहासिक जीत हासिल करके भारतीय टीम अपने देश वापस आ चुकी है। टेस्ट सीरीज के जीत के हीरो रहे कई खिलाड़ियों का उनका घर पहुंचने पर भव्य स्वागत भी किया जा रहा है। टेस्ट सीरीज में इंडिया की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ऑस्ट्रेलिया से आने के बाद अपने पिता के कब्र पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी। सिराज का प्रदर्शन पूरी टेस्ट सीरीज में बहुत शानदार रहा था और सचिन तेंदलुकर से लेकर क्रिकेट के तमाम दिग्गज खिलाड़ियों ने इस युवा गेंदबाज की जमकर तारीफ की थी। इसी बीच, सिराज ने एडिलेड में मिली शर्मनाक हार के उपरांत हेड कोच रवि शास्त्री द्वारा दिए गए मैसेज के बारे में बताया है। 

जंहा इस बात का पता चला है कि एडिलेड में खेले गए डे-नाइट टेस्ट मैच में टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इंडिया की टीम दूसरी पारी में महज 36 रन ही बना पाई। सिराज ने मीडिया से बात करते हुए कहा , 'रवि शास्त्री ने कहा था कि 36 ऑलआउट क्रिकेट में एक बार होता है, यह दोबारा कभी नहीं होगा। टीम का वातावरण काफी बढ़िया था। मैं अरुण सर को अपने घरेलू क्रिकेट के दिनों से जानता हूं, उनका रोल मेरे करियर में काफी महत्वपूर्ण रहा है। वह जानते थे कि कर सकता हूं। अजिंक्य रहाणे ने मेरे ऊपर विश्वास दिखाया और मैं उस विश्वास पर खरा उतरा। मैंने काफी एन्जॉय किया।'

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध टेस्ट सीरीज में खिलाड़ियों की चोटों से काफी परेशान रही और सिडनी टेस्ट में जसप्रीत बुमराह और अश्विन के चोटिल होने के उपरांत मोहम्मद सिराज को ब्रिसबेन टेस्ट में टीम की गेंदबाजी की अगुवाई करनी पड़ी। इस पर बात करते हुए सिराज ने कहा, 'अपने तीसरे ही टेस्ट मैच में पेस अटैक को लीड करना मेरे लिए काफी चैलेंजिंग था। मेरा प्लान विकेट लेना का नहीं था, मैं बस डॉट बॉल करके दबाव बढ़ाना चाहता था। प्लान था कि बल्लेबाज को दबाव में लाया जाए और  वह गलती करे। मैंने पहली पारी में अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन मुझे ज्यादा विकेट नहीं मिले, मैं ड्रेसिंग रूम में अपसेट था, लेकिन भरत अरुण सर ने मुझसे कहा कि मैंने उम्मीद से बेहतर गेंदबाजी की। उन्होंने कहा कि मेरी गेंदबाजी लाजवाब थी और मुझे विकेट ना लेने को लेकर जज नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट इसी तरह होता है, तुमको आज ज्यादा विकेट नहीं मिले, लेकिन तुमको कल विकेट मिल सकते हैं और मुझे दूसरी पारी में इनाम मिला।

अगर आप भी हरिद्वार महाकुंभ में स्नान करने जा रहे हैं तो जान लें ये 7 बातें, नहीं तो होगी दिक्कतें

हिंगोली में 750 से अधिक पोल्ट्री फार्म की मुर्गियों की होगी जांच

अब इन देशों में कोरोना वैक्सीन पहुंचाएगा भारत