साप्ताहिक समीक्षा : बना रहा एक फीसदी से अधिक गिरावट का रुख

साप्ताहिक समीक्षा : बना रहा एक फीसदी से अधिक गिरावट का रुख

मुंबई : शेयर मार्केट में उतार-चढाव का दौर तो चलता ही रहता है, कभी यहाँ निवेशकों को फायदा तो कभी नुकसान देखना पड़ता है. इसके साथ ही यह भी बता दे कि देश के शेयर बाजारों में पिछले सप्ताह में एक फीसदी से अधिक गिरावट देखने को मिली है. जहाँ इस सप्ताह में बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सप्ताह 1.36 फीसदी यानी 355.41 अंकों की गिरावट के साथ शुक्रवार को 25,863.50 पर बंद हुआ है वहीँ नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 1.42 फीसदी यानी 113.4 अंकों की गिरावट के साथ 7,868.50 पर बंद होते हुए देखा गया है.

साथ ही आपको इस बारे में भी जानकारी दे दे कि पिछले सप्ताह सेंसेक्स के 30 शेयरों में से नौ में तेजी रही है. ल्युपिन (4.95 फीसदी), मारुति (3.78 फीसदी), इंफोसिस (3.32 फीसदी), गेल (2.36 फीसदी) और विप्रो (2.13 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी देखने को मिली है. इसके साथ ही सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में टाटा मोटर्स (7.54 फीसदी), कोल इंडिया (7.13 फीसदी), भारती एयरटेल (6.51 फीसदी), रिलायंस इंडस्ट्रीज (6.39 फीसदी) और हिंडाल्को इंडस्ट्रीज (6.04 फीसदी) प्रमुख रहे है. सप्ताह के दौरान मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों का मिला-जुला रुख देखने को मिला है.

जहाँ मिडकैप 0.42 फीसदी या 48.19 अंकों की गिरावट के साथ 10,597.87 पर देखा गया वहीँ स्मॉलकैप 1.28 फीसदी या 138.08 अंकों की तेजी के साथ 10,942.14 पर बंद हुआ है. इसके साथ ही बात करे चीन के प्रारंभिक काइक्सिन विनिर्माण पीएमआई की तो सितंबर महीने में गत 78 महीने (साढ़े छह साल) के निचले स्तर 47 पर दर्ज किया गया. गौरतलब है कि शुक्रवार को ईद के कारण अवकाश रहा वहीँ शनिवार और रविवार की छुट्टी तो जायज सी बात है.