समाज को तोड़ देगा एससी-एसटी ऐक्ट: शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

Sep 09 2018 11:21 AM
समाज को तोड़ देगा एससी-एसटी ऐक्ट: शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

मथुरा : देश मौजूदा वक्त में आरक्षण की आग में जल रहा है. इसी मुद्दे पर शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा कि  अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति कानून जो केंद्र सरकार द्वारा संशोधित रूप में लाया गया है वह भारतीय समाज में विघटन का कारण बन जायेगा. 

इसके साथ ही शंकराचार्य ने जारी अपने वक्तव्य में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी तक को कटघरे में खड़ा कर दिया है. इसके साथ ही शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने एससी-एसटी ऐक्ट के मुद्दे पर बीजेपी सरकार को उन्होंने हिन्दू विरोधी तक करार दे दिया. 

गौरतलब है कि स्वरूपानंद इस समय वृन्दावन के अटल्ली चुंगी स्थित उड़िया आश्रम में चातुर्मास प्रवास पर गए हुए है. इसके साथ ही शंकराचार्य ने कहा समाज में अनेक जातियाँ है और अच्छे बुरे लोग तो हर जाती में होते है. ऐसे में यह कानून समाज के लिए खतरनाक हथियार साबित होगा. जिसमे केवल कहने मात्र से दूसरों को जेल हो जाए यह सही नहीं है. आगे इन्होने कहा इस कानून से वर्ग भेद और होगा और यह देश को बहुत पीछे धकेल देगा. लोगों में एक दूसरे के प्रति घृणा बढ़ेगी. बता दें कि इस साल 20 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी में संशोधन की बात कही थी. 

ख़बरें और भी...

यूपी वासियों के लिए ख़ुशख़बरी, 10000 करोड़ के निवेश के साथ लागू होगी जैव ईंधन नीति

अब हिमाचल प्रदेश में हड़ताल, यात्रियों को हो सकती है बड़ी परेशानी

मध्यप्रदेश में भारी बारिश से कई गाँव टापू में तब्दील, नदी-नाले उफान पर

Asia Cup 2018: बांग्लादेश की बड़ी मुश्किलें

शाहजहांपुर में कार में लिफ्ट देने के बहाने महिला से बलात्कार

?