13 अक्टूबर को है शरद पूर्णिमा, ऐसे करें पूजा और रखे छत पर खीर

Oct 12 2019 03:40 PM
13 अक्टूबर को है शरद पूर्णिमा, ऐसे करें पूजा और रखे छत पर खीर

शरद पूर्णिमा का त्यौहार हर साल मनाया जाता है. ऐसे में इस बार शरद पूर्णिमा का त्यौहार 13 अक्टूबर 2019 रविवार को है. ऐसे में हिन्दू धर्म में शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व माना आजाता है और ऐसा माना जाता हैं कि शरद पुर्णिमा का व्रत करने से सभी मनोकामनाएँ पूर्ण होती हैं. इसी के साथ शरद पुर्णिमा अन्य पूर्णिमाओं के तुलना में काफी लोकप्रिय मानी जाती है और इसी दिन को महत्वपूर्ण माना जाता है जब चंद्रमा अपनी 16 कलाओं से युक्‍त होकर धरती पर अमृत की वर्षा करता है. ऐसे में आज हम आपको शरद पुर्णिमा के दिन खीर कैसे रखे, पूजा और इसके महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं.

कैसे रखे खीर चंद्रमा की प्रकाश में - शरद पुर्णिमा के रात को आप चावल या फिर साबूदाने की खीर बनाए, यदि आप खीर गाय के दूध मे बनाते हैं तो यह आपके लिए और भी फलदायी होगा. इस दिन खीर आप जितना भी अच्छा बना सके यानि की आप उसमे मेवे, चीनी आदि चीजों का इस्तेमाल करके बनाए. इसी के साथ खीर बनाने के बाद इसे एक बर्तन में ले और इस खीर को चंद्रमा की रोशनी में लेकर जाए, इसे किसी जाली से ढक कर पूरी रात रख दे, वहीं अगर आप पूरी रात नहीं रखते हैं तो आप इसे एक से दो घंटे के लिए जरूर रख दे. उसके बाद सुबह उठकर इस खीर का इस्तेमाल आप पूरे परिवार के साथ करे, इससे स्वास्थ्य लाभ मिलता हैं क्योंकि इस दिन चंद्रमा की रोशनी से अमृत की बरसात होती हैं.

शरद पुर्णिमा की विशेष पूजा विधि - इस दिन मध्य रात्रि में चंद्रमा की पूजा करनी चाहिए, इसके लिए आप खुद को स्वच्छ करे और फिर अपने घर के बालकनी या छत पर जाए और फिर चन्द्र भगवान को अर्घ्य दे. उसके बाद पानी में थोड़ा सा खाड़ या शक्कर का भूरा मिलाकर दे और अर्घ्य देने के बाद आप बनाए हुये खीर का भोग चन्द्र भगवान को लगाए. वहीं इसके अलावा आप इस शरद पुर्णिमा की रात को दिये अवश्य जलाए, इससे देवी माँ लक्ष्मी का आगमन होता हैं, इसी के साथ दिये जलाने की लिए आप आटे के सौ दिये बनाकर अपने छत पर जला सकते हैं. 

शरद पूर्णिमा पर पहने इस रंग के कपड़े और कर लें यह सरल उपाय

शरद पूर्णिमा पर करें इन दो मंत्रो का जाप, हो जाएंगे मालमाल

शरद पूर्णिमा पर पृथ्वी पर आती हैं मां लक्ष्मी, खुश करने के लिए करें यह उपाय