मानवता शर्मसार! 70 वर्षीय महिला के साथ शख्स ने किया बलात्कार, न्याय की आस में 12 घंटे बैठी रही थाने के बाहर

मानवता शर्मसार! 70 वर्षीय महिला के साथ शख्स ने किया बलात्कार, न्याय की आस में 12 घंटे बैठी रही थाने के बाहर
Share:

उज्जैन: मध्य प्रदेश के उज्जैन से एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है यहाँ काम की तलाश में उज्जैन आई एक वृद्धा को एक युवक ने डरा धमकाकर उसके साथ बलात्कार कर डाला. हद तो उस समय हो गई जब न्याय की आस में थाने पहुंची वृद्धा की सहायता करने की जगह जिम्मेंदारों ने 12 घंटे मेडिकल रिपोर्ट आने की प्रतीक्षा की तथा उसके बाद बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज की गई.

दरअसल, मध्य प्रदेश के बीना की रहने वाली 70 वर्षीय वृद्धा अपने बेटे के साथ काम की तलाश में उज्जैन आईं थीं. रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर आठ पर वृद्धा अपने बेटे के साथ सोईे थीं कि तभी प्रातः 6 बजे एक बदमाश उनके पास पहुंचा एवं उसने वृद्धा को डरा धमकाकर अपने साथ चलने को कहा. वृद्धा ने इस के चलते विरोध करने का प्रयास भी किया मगर प्रातः प्लेटफार्म पर कोई नहीं था जो कि उनकी मदद कर पाता. बदमाश उन्हें डरा धमकाकर अपने साथ नीलगंगा के पास बने टूटे रेलवे क्वार्टर में ले गया. यहां पर उसने वृद्धा के साथ बलात्कार किया तथा भाग गया. इस घटना के बाद वृद्धा अपने बेटे के पास पहुंची एवं अपने साथ हुई घटना की आप-बीती सुनाई. न्याय की तलाश में दोनों मां-बेटे जीआरपी थाने पर पहुंचे जहां उन्होंने पुलिस को भी इस पूरे मामले के बारे में बताया. मगर पुलिस को वृद्धा की बातों पर बिल्कुल भी भरोसा नहीं था. 

यही वजह है कि उन्होंने कार्यवाही के लिए वृद्धा का मेडिकल तो करवाया मगर तब तक इस मामले में प्रकरण दर्ज नहीं किया जब तक की मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार की पुष्टि नहीं कर दी गई. तकरीबन 12 घंटे तक न्याय की आस में बैठी वृद्धा के साथ हुए बलात्कार के मामले में पुलिस ने रिपोर्ट के आने के बाद ही कार्यवाही आरम्भ की. प्लेटफार्म नंबर 8 रेलवे स्टेशन का एक ऐसा स्थान है जहां पर लोगों की आवाजाही सबसे कम होती है. घटना के पश्चात् पुलिस यहां आने जाने वाले लोगों से पूछताछ तो कर ही रही है मगर इसके साथ ही पुलिस ने यहां लगे कैमरे के फुटेज भी खंगाली है जिससे कि अपराधी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जा सके. रेलवे स्टेशन के पास जहां यह वारदात हुई वहां रेलवे के ही जीआरपी एवं RPF थाने हैं. इसके साथ ही चंद कदमों की दूरी पर थाना नीलगंगा और थाना देवासगेट भी है, किन्तु इतनी मुस्तेदी के बाद भी अपराधियों में शायद पुलिस का भय नहीं है इसीलिए वह बेखोफ होकर इस प्रकार की वारदात को अंजाम दे रहे हैं.

MP में भूकंप के झटके, घबराकर घरों से निकले लोग

पानी बर्बाद करने से किया इंकार तो भड़का शख्स, दे डाली दर्दनाक मौत

ये मंदिर बताता है कि कब आएगा मानसून? मौसम विभाग भी है फेल

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -