छलका शबाना का दर्द, कहा- बुराई के खिलाफ आवाज उठाने पर देशद्रोही कहा जाता है

छलका शबाना का दर्द, कहा- बुराई के खिलाफ आवाज उठाने पर देशद्रोही कहा जाता है

उर्दू के शायर कैफी आजमी की 100वीं जयंती पर देहरादून में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था. जिस प्रोग्रम में एक महिला के सवाल पर मशहूर अभिनेत्री शबाना आजमी ने कहा है कि बुराई के खिलाफ बोलने पर आपको देशद्रोही करार दिया जाता है. अब उनका यह बयां चर्चा का विषय बन गया है. उन्होंने कहा कि देश में बुराई के खिलाफ होने पर या उसके खिलाफ कुछ भी कहने की इजाजत नहीं है.

आजमी ने कहा कि देशभक्त देश में फैली बुराई की आलोचना करता है, क्योंकि वह देश का भला चाहता है और वह अपने देश को अच्छा देखना चाहता है. हालांकि राष्ट्रवादी कुछ भी अपने खिलाफ सुनना नहीं चाहता है. मशहूर अभिनेत्री ने माना कि राष्ट्रवाद और देशभक्ति में अंतर है, लेकिन इसे राजनीतिक मुद्दा आज के समय में बना दिया गया है. 

शबाना ने आगे मन कि यह काफी गलत हो रहा है और यह देश के भले में नहीं है. हमें इसके चक्कर में नहीं पड़ना चाहिए. जबकि उनके पति और गीतकार जावेद अख्तर ने बीच में माइक लेकर लोगों से पूछा कि क्या बेटियों की सुरक्षा को लेकर सवाल पूछना गलत है और क्या यह देशद्रोही है. उन्होंने आगे कहा कि बहुत से लोग ऐसी ही गड़बड़ पर सवाल उठा जाते हैं, लेकिन उन्हें देशद्रोही करार दे दिया जाता है. वहीं एक व्यक्ति ने जावेद से कहा कि वे आजकल फिल्मों के लिए गीत क्यों नहीं लिख रहे तो इस पर उन्होंने कहा आज के गीतों में साउंड बहुत तेज होता है, इससे गीतकार की आवाज दब रही है. 

 

 

सलमान से सरोज ने कहा- मेरे पास कोई काम नहीं, तो मिला यह चौंकाने वाला जवाब

अब अजय देवगन के साथ एक और बायोपिक में नज़र आएँगी जाह्नवी कपूर

अर्जुन-मलाइका की शादी पर अरबाज़ का आया रिएक्शन, दिया जवाब

धूम-धाम से मना सलमान के भांजे का जन्मदिन, तस्वीरें उड़ाएंगी होश