मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान में है दूसरा सबसे ज्यादा कोविड एंटीबॉडीज: ICMR

पिछले महीने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा किए गए सीरो सर्वे की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि राजस्थान में दूसरे सबसे ज्यादा कोविड एंटीबॉडीज हैं, यानी कहें तो इसकी 76 फीसदी आबादी में कोरोना वायरस के खिलाफ एंटीबॉडीज हैं। रिपोर्ट के अनुसार जून-जुलाई में राजस्थान के विभिन्न शहरों से कुल 1,226 रैंडम सैंपल लिए गए। इन नमूनों की जांच के बाद 934 नमूनों में एंटीबॉडी पाए गए। इस सर्वे रिपोर्ट ने राज्य के लोगों में कोविड एंटीबॉडीज की मौजूदगी के संकेत दिए हैं। 

सीरो सर्वे रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि देश भर में सबसे ज्यादा एंटीबॉडी मध्य प्रदेश के लोगों में पाई गई है, जो कि आबादी का लगभग 79 प्रतिशत है। मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान दूसरे नंबर पर आता है। इसी तरह सबसे कम एंटीबॉडी काउंट केरल में पाया गया है जो सिर्फ 44 फीसदी है। 

राजस्थान में दूसरी कोविड लहर के दौरान ढाई महीने (अप्रैल, मई और मध्य जून तक) में करीब 6 लाख पॉजिटिव केस मिले। कोरोनावायरस के कारण 6,000 से अधिक लोगों की जान चली गई। दूसरी ओर, मध्य प्रदेश अपनी 79 प्रतिशत आबादी में एंटीबॉडी के साथ चार्ट में सबसे आगे है, जबकि राजस्थान 76.2 प्रतिशत सीरो प्रसार के साथ दूसरे स्थान पर है। बिहार में 75.9 प्रतिशत, गुजरात में 75.3 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 74.6 प्रतिशत, उत्तराखंड में 73.1 प्रतिशत, उत्तर प्रदेश में 71 प्रतिशत और आंध्र प्रदेश में 70.2 प्रतिशत सीरो प्रचलन है।

अगले हफ्ते 'अन्न महोत्सव' मनाएगी भाजपा, होगा यूपी चुनाव का शंखनाद

पुडुचेरी में मिले 98 नए कोरोना केस, बीते 24 घंटों में कोई मौत नहीं

प्रशांत किशोर को कांग्रेस में लाने में जुटे राहुल गांधी, पार्टी नेताओं को दिया ये टास्क

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -