महिला ने आदिवासी विभाग के सहायक आयुक्त पर लगाए गंभीर आरोप, जनदर्शन में प्रभारी कलेक्टर को आवेदन देकर की शिकायत

कोरबा: सोमवार को कोरबा जिले में पदस्थ आदिवासी विभाग के सहायक आयुक्त श्रीकांत दुबे के खिलाफ एक महिला द्वारा गंभीर आरोप लगते हुए जनदर्शन में प्रभारी कलेक्टर को आवेदन सौंपा. जिसमे महिला ने कहा, जब वह अफसर के पास समस्या लेकर गई तो उसे उन्होंने यह कहते हुए भगा दिया कि "कुत्ते-बिल्ली जैसे बच्चे क्यों पैदा करती हो?"

जानकारी के अनुसार, नायर मुहल्ले की रहने वाली फिरतिन बाई साहू के पति 2011 से लापता हैं. वह किसी तरह दूसरे के घरों में आया का काम कर अपने दो बेटों हेमंत (8) और लक्की (6) को पाल-पोस रही है. पीड़ित ने बताया कि दोनों बच्चे बदमाश हो गए हैं, स्कूल नहीं जाते, हेमंत आत्महत्या की धमकी भी देता है. 

जिस वजह से महिला बच्चों की पढ़ाई और बेहतर परवरिश के लिए फिरतिन उन्हें आदिवासी हॉस्टल में प्रवेश दिलाना चाहती है. इसी मांग को लेकर उसने 12 जुलाई को कलेक्टर जनदर्शन में आवेदन दिया था. इससे पहले आवेदन निराकरण के लिए आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त श्रीकांत दुबे को भेजा गया था.

महिला का आरोप है कि दुबे ने उसकी बातों को अनसुना कर डांटते हुए कहा- "कुत्ते-बिल्ली जैसे बच्चे क्यों पैदा करती हो? फिरतिन बाई ने सहायक आयुक्त द्वारा दुर्व्यवहार की शिकायत रामपुर पुलिस चौकी में भी की है. चौकी प्रभारी दीपा केवट ने बताया कि शिकायत की जांच शुरू हो गई है. सही पाए जाने पर आगे की कार्रवाई होगी.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -