छोटे शहरो में अधिक है सेक्स टॉयज की डिमांड

छोटे शहरो में अधिक है सेक्स टॉयज की डिमांड

आज कल लोग अपने इच्छाओ को पूरा करने के लिए सेक्स टॉयज का इस्तेमाल करते हैं। वैसे ही सेक्सुअल प्रोडक्ट्स भी आजकल खासा लोग इस्तेमाल कर रहे हैं। देखा गया है कि छोटे शहरों के लोग इन्हें ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं। छोटी सिटीज़ में रहने वाले तकरीबन 63 फीसदी लोग पुरुष यौनक्षमता बढ़ाने और महिलाओं को उत्तेजक करने वाले यौन उत्पादों को खरीदने में सहजता महसूस करते हैं। ऐसा हम नहीं बल्कि एक रीसर्च से सामने आया है।

छोटे शहर जैसे नागपुर, सूरत और जयपुर में लगभग 87 फीसदी लोग ऐसे हैं जो यौन प्रोडक्ट ऑनलाइन मंगाना पसंद करते हैं। बड़े शहरों जैसे बैंग्लोर, मुंबई और पुणे के केवल 32 फीसदी लोग ही ऐसे हैं जो ऑफलाइन यौन प्रोडक्ट खरीदना पसंद करते हैं। ऐसा जाना गया है कि यौन प्रोडक्ट्स खरीदने में पुरुषों से ज्यादा महिलाएं आगे हैं। 77 फीसदी महिलाएं और 73 फीसदी पुरुष ऑनलाइन सेक्सुअल वेलनेस प्रोडक्ट खरीदना पसंद करते हैं। नासिक, पुणे, वडोदरा, इंदौर और जयपुर में पुरुष अपनी यौन क्षमता बढ़ाने वाले प्रोडक्टस और डिलेयिंग जैल मंगवाना पसंद करते हैं तो महिलाएं उत्तेजक लॉन्जरी और कामुक लिप बाम मंगवाना पसंद करती हैं।

इस रिसर्च में ये भी पता चला है कि लोगों को ऐसे प्रोडक्ट ऑफिस में बैठकर ऑर्डर करने में कोई संकोच नहीं है। जैसे गुड़गांव, यहां 30 फीसदी लोग ई-कॉमर्स इरोटिक प्रोडक्ट ऑर्डर करते हैं और इसके लिए अपना कॉरपोरेट एकाउंट का इस्तेमाल करते हैं। किंकपिन वेबसाइट के को-फाउंडर रितेंद्र सिंह का कहना है कि उच्च वर्ग के बेडरूम में सेक्स टॉय एक अभिन्न हिस्सा बन रहा है।

क्या वैश्या को पैसे देकर सेक्स करना सही है ?

कृत्रिम अंगो से करने वाला था सेक्स लेकिन फिर हुआ कुछ ऐसा

क्या आपको पता है सेक्स से जुड़े ये अमेज़िंग तथ्य