8वीं में फेल नहीं हुआ पंडित प्रदीप मिश्रा का बेटा, छवि बिगाड़ने के लिए फैलाई झूठी अफवाह

सीहोर: किसी भी परीक्षा में उत्तीर्ण होना या अनुत्तीर्ण होना विद्यार्थी की प्रतिभा पर निर्भर करता है। अगर बच्चा पढ़ता है तो पास हो जाता है लेकिन नहीं पढ़ता तो नहीं पास होता। हालाँकि बीते कई दिनों से मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक पर पंडित प्रदीप मिश्रा के बेटे राघव मिश्रा के कक्षा आठ की परीक्षा में फेल हो जाने की खबरें चल रही हैं। जी हाँ, देखते ही देखते राघव मिश्र के फेल या पास होने का मामला इतना आगे बढ़ गया कि लोग पंडित प्रदीप मिश्रा पर अविश्वास जताने लगे।

आप सभी को बता दें कि कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा शिव पुराण के माध्यम से विभिन्न उपायों के द्वारा भक्तजनों को लाभ प्राप्त करने की शिक्षा व्यासपीठ से देते रहे हैं। जी हाँ और उनका एक वीडियो बड़ा वायरल हुआ था, और उस वीडियो में उन्होंने कहा था कि 'किसी भी परीक्षा में जाने से पहले यदि भगवान शिव के शिवलिंग पर शहद के साथ बेलपत्र चढ़ाया जाए तो परीक्षा में अवश्य ही लाभ मिलता है।' वहीं जब अचानक उनके बेटे के अनुत्तीर्ण होने की खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो लोग उन्हें झूठा कहने लगे। हालाँकि यह खबर मात्र अफवाह है और ऐसा नहीं हुआ है।

बीते दिनों सीहोर के कांग्रेस प्रवक्ता पंकज शर्मा ने बयान दिया कि पंडित प्रदीप मिश्रा का बेटा कक्षा आठवीं में फेल हो गया है। हालाँकि उनके इस दावे की पड़ताल में यह पता चला है कि शासन ने प्राथमिक और माध्यमिक कक्षाओं में फेल करने का प्रावधान ही खत्म कर दिया है। आपको बता दें कि पंडित प्रदीप मिश्रा के बेटे राघव मिश्रा शारदा विद्या मंदिर सीहोर के छात्र हैं और उन्होंने कक्षा आठवीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर कक्षा नौ में प्रवेश लिया है। यह बच्चे की मार्कशीट है, वह आठवीं की परीक्षा में किसी भी विषय में फेल नहीं हुआ है। इससे यह साबित हुआ है कि कथावाचक की ख्याति को धूमिल करने का राजनीतिकरण भी हुआ है।

इंदौर: एक सिगरेट के चक्कर में लड़की ने कर ली आत्महत्या, पूरा मामला सुनकर होगी हैरत

जिन्ना रोड की मेमन मस्जिद के पास भीषण बम ब्लास्ट, एक महिला की मौत, 8 अन्य घायल

RCB के हॉल ऑफ़ फेम में शामिल हुए दो दिग्गज क्रिकेटर, कोहली को नहीं मिली जगह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -