'पुष्पा' देख नाबालिगों में जगी मशहूर होने की चाह, कर डाला ऐसा काम कि पुलिस भी रह गई दंग

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की पकड़ में 3 ऐसे नाबालिग आए है जिन्होंने अपना गैंग 'बदनाम गैंग' के नाम से बनाया तथा मशहूर होने के लिए एक व्यक्ति की हत्या कर दी. अपराधियों ने हत्या की घटना को अपने ही फ़ोन में रिकॉर्ड कर लिया. पुलिस का कहना है कि अपराधियों का षड्यंत्र था कि वह इस वीडियो को सोशल मीडिया पर अपलोड करेंगे. सोशल मीडिया के भिन्न-भिन्न प्लेटफॉर्म पर वीडियो पोस्ट करने की मंशा क्षेत्र में न केवल उनके नाम का डर उत्पन्न करना बल्कि उनके गैंग 'बदनाम गैंग' को भी पहचान करवाना तथा उनसे डरेंगे. पूछताछ में पता चला है कि नाबालिगों को यह आइडिया मूवी पुष्पा एवं वेब सीरीज भौकाल देख कर आया था.

वही 19 जनवरी को जहांगीर पुरी थाना पुलिस को एक कॉल मिली कि एक व्यक्ति को बहुत गंभीर स्थिति में अस्पताल में पहुंचाया गया है. पुलिस की टीम जब मौके पर पहुंची तो पता लगा कि उपचार के चलते पीड़ित की मौत हो गई है. तत्पश्चात, मरने वाले की पहचान शिबू के तौर पर हुई. तहकीकात के चलते पुलिस को पता लगा कि शिबू की ना तो किसी से शत्रुता थी तथा ना ही लूटपाट के इरादे से इस हत्या को अंजाम दिया गया था. इसलिए पुलिस ने घटना वाले स्थान के आसपास के सभी सीसीटीवी फुटेज खंगालने आरम्भ किए. CCTV फुटेज में दिल्ली पुलिस को शिबू के साथ 3 लड़के हाथापाई करते हुए तथा मारपीट करते हुए दिखाई दिए.

तत्पश्चात, पुलिस ने उन तीनों की पहचान की और फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के चलते पुलिस को पता लगा कि तीनों अपराधी नाबालिग है इस कारण पुलिस इस मामले में जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के नियमों के तहत कार्रवाई कर रही है, जब पुलिस ने तीनों अपराधियों से पूछताछ की तो उन्होंने पुलिस के सामने कई हैरान करने वाले खुलासे किए. वही सबसे पहले तो पुलिस को यह पता लगा कि अपराधियों की पीड़ित के साथ कोई शत्रुता नहीं थी. अपराधियों ने अभी बीते कुछ दिनों में ही फिल्म पुष्पा देखी थी तथा साथ ही साथ वेब सीरीज भौकाल. तत्पश्चात, अपराधियों में अपना भी एक गैंग बनाकर क्षेत्र में व्यक्तियों के बीच में डर उत्पन्न करने की चाहत जगी. तत्पश्चात, तीनों ने अपना एक गैंग बनाया जिसका नाम इन्होंने 'बदनाम गैंग' रखा. 19 दिनांक को इन्होंने शिबू का चाकू मारकर क़त्ल कर दिया तथा उस पूरी घटना को उनके एक साथी ने फ़ोन में कैद कर लिया. पुलिस का कहना था कि इनका षड्यंत्र था कि इस वीडियो को सोशल मीडिया पर अपलोड किया जाएगा जिससे लोग इन्हें और इनके गैंग को पहचानने और इन से डरें, मगर ये अपने मंसूबे में सफल हो पाते इसके पहले दिल्ली पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया. पुलिस ने मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया है जिसमें इस पूरी घटना को रिकॉर्ड किया गया था तथा इनके पास से घटना में उपयोग चाकू को भी जब्त कर लिया है.

कलंकित हुआ पवित्र रिश्ता! हाथ-पैर बांध कर पिता ने ही किया अपनी बेटी का दुष्कर्म, और फिर...

मेघालय: शिलांग में नकाबपोश बदमाशों ने की तोड़फोड़, तीन घायल

जेएनयू में छात्रा से छेड़खानी का मामला, पुलिस के साथ सक्रिय रूप से समन्वय कर रहा विश्वविद्यालय

Most Popular

- Sponsored Advert -