15 अगस्त से पहले छावनी में तब्दील हुआ लाल किला, मेन गेट पर लगाए गए बड़े-बड़े कंटेनर्स

नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लाल किले के आसपास सुरक्षा पुख्ता कर दी गई है. बता दें कि राजधानी की सड़कों पर इस बार किसानों का आंदोलन भी जारी है, ऐसे में 26 जनवरी को हुई हिंसा के मद्देनज़र दिल्ली पुलिस इस बार सुरक्षा बहुत कड़ी कर रही है. इसी क्रम में लाल किले के पास बड़े-बड़े कंटेनर्स लगाए गए हैं. 

लाल किले (Red Fort) के मुख्य द्वार पर ये कंटेनर्स लगाए गए हैं, ताकि यदि कोई प्रदर्शनकारी पुलिस के चक्रव्यूह को भेदकर आता है तो कंटेनर्स को पार ना कर पाए. खुफिया एजेंसियों को लगातार ये इनपुट मिल रहा है कि 15 अगस्त के दिन प्रदर्शनकारियों द्वारा बवाल किया जा सकता है और लाल किले पर आंदोलन करने का प्रयास किया जा सकता है. बता दें कि प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त को पीएम लालकिले की प्राचीर से झंडा फहराते हैं, कोरोना महामारी के चलते इस बार भी दर्शक दीर्घा में कम लोगों को जगह मिलने की संभावना है. लेकिन उसके बाद भी सुरक्षा को पुख्ता किया जा रहा है और चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं.

दरअसल, इतनी सख्त सुरक्षा का मुख्य कारण, किसान आंदोलन को माना जा रहा है. कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान विगत एक साल से दिल्ली की बॉर्डर्स पर डटे हुए हैं. अभी संसद के सत्र के दौरान जंतर-मंतर पर भी किसानों द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है. 

मुकेश अंबानी की 24 हजार करोड़ की डील में आई रुकावट, अमेजन के पक्ष में आया SC का फैसला

आरबीआई ने लगातार 7वीं बार रेपो रेट 4 फीसदी पर रखा बरकरार

कई महानगरों में ऊंचाई पर पेट्रोल-डीजल के दाम, जानिए आपके शहर का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -