बाबरी की बरसी: श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा में हाई अलर्ट, क्या होने वाला है आज ?

लखनऊ: श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा के निवासी आज सुबह जब उठे तो उनका अपना शहर, उन्हें एक किले के रूप में नज़र आया. खासतौर से कृष्ण जन्मभूमि मंदिर के आसपास रहने वालों को तो बिल्कुल यही दृश्य दिखा. राज्य सरकार के निर्देशानुसार स्थानीय प्रशासन ने कटरा केशव देव इलाके में तीन लेयर की सुरक्षा कर दी गई है. ये वही स्थान है जहां मथुरा शाही ईदगाह मस्जिद को लेकर विवाद है. बता दें, आज ही के दिन अयोध्या में बाबरी ढांचे का विध्वंस भी किया गया था.

ये सुरक्षा इसलिए भी अभूतपूर्व है, क्योंकि अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद के बाद भी मथुरा में कभी भी सद्भाव नहीं बिगड़ा. किन्तु इस बार कुछ दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा धमकी दी गई है कि वो मस्जिद के भीतर हिंदू रीति-रिवाज से पूजा करने जा रहे हैं. इसे देखते हुए आसपास सुरक्षा पुख्ता कर दी गई है. शहर को जोड़ने वाले प्रत्येक नेशनल और स्टेट हाइवे पर पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी है. यहां तक कि मंदिर-मस्जिद के पीछे से गुजरने वाले रेलवे ट्रैक पर भी आवागमन बंद कर दिया गया है. मथुरा वृंदावन आने वालीं दो ट्रेनें भी यार्ड में ही रुकेंगी. धारा-144 लागू कर दी गई है और लोगों के जुटने पर मनाही है. मंदिर या मस्जिद में जाने वाले लोगों का भी पहचान पत्र देखा जा रहा है. CCTV और ड्रोन के माध्यम से भी निगरानी की जा रही है.

बता दें कि चार दक्षिणपंथी संगठनों अखिल भारत हिंदू महासभा, श्रीकृष्ण जन्मभूमि निर्माण न्यास, नारायणी सेना और श्रीकृष्ण मुक्ति दल ने प्रशासन से दिसंबर के शुरु में रीति-रिवाज से लड्डू गोपाल की मूर्ति स्थापित करने की इजाजत मांगी थी. इससे स्थिति बिगड़ने का खतरा और बढ़ गया था. हिंदू संगठनों का दावा है कि जिस स्थान पर मस्जिद है, वहीं पर श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था. 

मथुरा में मंदिर था या मस्जिद :-

मशहूर इतिहासकार जदुनाथ सरकार अपनी किताब हिस्ट्री ऑफ औरंगजेब वॉल्यूम 3 में लिखते हैं कि '9 अप्रैल 1669 को मुग़ल बादशाह औरंगज़ेब ने मंदिरों और हिन्दू गुरुकुलों को ध्वस्त करने का आदेश दिया था, जिसमे मथुरा भी शामिल था.' बताया जाता है कि मंदिर तोड़ने के बाद उसके कुछ हिस्से में ईदगाह मस्जिद बना दी गई और इसी को लेकर पूरा विवाद है, जैसा अयोध्या में था. 

मथुरा: शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक ऐलान, गली-गली में तैनात हुई फोर्स

'मुस्लिम 40 करोड़ हैं, कमज़ोर न समझना..', सपा सांसद शफीकुर्रहमान का भड़काऊ बयान

'अयोध्या हुई हमारी, अब काशी-मथुरा की बारी..', यूपी चुनाव से पहले राज्य में गूंजा नया नारा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -