सिंधिया वाड्रा के मप्र संस्करण : जावड़ेकर

मध्यप्रदेश/शिवपुरी : केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस के युवा नेता एवं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को राबर्ट वाड्रा का मध्य प्रदेश संस्करण करार दिया है। लोकसभा के मानसून सत्र में कांग्रेस सांसदों द्वारा किए गए हंगामे के जवाब में भाजपा के सांसद कांग्रेस सांसदों के क्षेत्रों में जाकर जनसभाएं कर रहे हैं। इसी क्रम में मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया के संसदीय क्षेत्र में शिवपुरी के माधव चौक पर जनसभा हुई, जिसमें जावड़ेकर ने कांग्रेस और सिंधिया पर जमकर हमला बोला।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एक दामाद जमीन लेता है और कुछ ही दिनों में वह कई गुना दाम में बेच देता है। मगर वाड्रा के मध्य प्रदेश संस्करण ने तो शिवपुरी में ट्रस्ट की जमीन बिना किसी अनुमति के बेच दी। सिंधिया ने लोकतंत्र विरोधी चेहरा दिखाकर अपनी वंश परंपरा की तौहीन की है, जावड़ेकर ने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव में 44 संसदीय क्षेत्रों की जनता ने गलती की है, जिसका खामियाजा संसद सत्र में हंगामा के रूप में समूचे देश की जनता ने भुगता है। जनता सचेत हुई है और आने वाले चुनाव में कांग्रेस को इसका दुष्परिणाम स्वयं भुगतना पड़ेगा। 

उन्होंने कहा कि देश का विकास सर्वोच्च है। नियमों की कट्टरता के लिए मानवीय हितों और राष्ट्र के विकास से समझौता नहीं होने दिया जाएगा। पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के काल में वन पर्यावरण मंत्रालय का मतलब विकास रोको मंत्रालय था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने मंत्रालय की प्रतिबद्धता बना दी है- विकास को गति प्रदान करो, जनता को राहत प्रदान करो, मंत्री ने कहा कि वनग्रामों का तेजी से विकास किया जा रहा है। रक्षा परियोजनाओं के क्रियान्वयन में गति आई है, 

वहीं, वरिष्ठ विधायक जयभान सिंह पवैया ने कहा कि कांग्रेस का लोकशाही में कोई भरोसा नहीं है। ज्योतिरादित्य आज भी सामंतशाही के नशे में मदमस्त हैं। उन्हें यदि जनता ने चुना है तो उन्हें जनभावना का आदर करना भी सीखना होगा। जनभावना का सम्मान लोकतंत्र की आत्मा है, इस अवसर पर प्रदेश की मंत्री और सांसद ज्योतिरादित्य की बुआ यशोधरा राजे सिंधिया भी उपस्थित थीं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -