अमेज़न के वर्षा वैन से फ़ैल सकती है अगली महामारी, शोधकर्ताओं ने किया सतर्क

वाशिंगटन: कोरोना महामारी अभी जारी है और यह कब तक ख़त्म होगी, इसका कोई अता-पता नहीं है. ऐसे में एक और महामारी की आशंका ने वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं की सांस अटका दी है. दरअसल प्रकृति गुस्से में है और लगता है कि हमारी ज्यादतियों की सजा देने का उसने मन बना लिया है. इसलिए अगली महामारी जहां से आने के संकेत मिल रहे हैं वह इलाका पृथ्वी का फेफड़ा कहलाता है. यानी आने वाले दिनों में अमेजन के वर्षा वन से कोई महामारी पनप सकती है. 

इसका बड़ा कारण यहां के जंगलों में पेड़ों की अंधाधुंध कटाई हो सकता है. वैज्ञानिकों ने जंगलों की अंधाधुंध कटाई को लेकर आगाह किया है. उनका कहना है कि इससे जंगली जानवरों के निवास स्थान पर हमला हो रहा है. जिसका आने वाले दिनों में खतरनाक प्रभाव देखने को मिल सकता है. पारिस्थितिकी तंत्र पर शोधकर्ताओं का कहना है कि शहरीकरण से जूनोटिक बीमारियों का जोखिम बढ़ गया है. जूनोटिक बीमारी में जानवर बीमार नहीं होते बल्कि मनुष्यों को रोगी बनाने की क्षमता होती है. 

इस बीमारी का मतलब यह हुआ कि संक्रमण जानवरों से मनुष्यों तक फैलेगा. इस श्रेणी में कोरोना वायरस भी शामिल है. इसके संबंध में वैज्ञानिकों का अनुमान है कि वास्तव में ये इंसानों से पहले चमगादड़ में फैला और फिर चीन के वुहान में संक्रमण ने घातक रूप धारण कर लिया.

प्रियंका का स्टाइलिश लुक इंटरनेट पर हुआ वायरल

कोरोना को लेकर चीन पर भड़का ऑस्ट्रेलिया, की अंतर्राष्ट्रीय जांच की मांग

युवराज ने बताया- कौन दो खिलाड़ी तोड़ सकते हैं उनका फास्टेस्ट फिफ्टी का वर्ल्ड रिकॉर्ड

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -