महाराष्‍ट्र में अभी नहीं खुलेंगे स्‍कूल-कॉलेज, इस तारीख तक रहेंगे बंद

मुंबई: कोरोना महामारी के कारण देश के प्रत्येक क्षेत्र पर भारी प्रभाव पड़ा है, इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि प्रदेश में विद्यालयों को फिर से खोलने की मांग पर अगले 10-15 दिनों के पश्चात् विचार किया जाएगा। विद्यार्थियों की पढ़ाई के नुकसान तथा बच्चों में कोरोना वायरस की घटनाओं को ध्‍यान में रखते हुए कोई निर्णय लिया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी बताया कि मामले पर आखिरी फैसला सीएम उद्धव ठाकरे लेंगे।

वही प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों की वजह से महाराष्ट्र में स्कूल 15 फरवरी तक बंद कर दिए गए हैं। मीडिया से चर्चा करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, "विद्यालयों को फिर से खोलने के लिए कुछ दिनों से मांग बढ़ रही है क्योंकि बच्चों की पढ़ाई का नुकसान हो रहा है।" उन्होंने बताया, "हम 10-15 दिनों के पश्चात् इस पर विचार करेंगे क्योंकि बच्चों में संक्रमण की दर कम है। इस सिलसिले में आखिरी फैसला सीएम करेंगे।"

वही कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि लोग कोरोना से बेखबर लग रहे हैं। उन्होंने कहा, "कोविड नियमों का कड़ाई से पालन किया जाना चाहिए। आम लोगों के साथ-साथ राजनेताओं को भी भीड़भाड़ से बचना आवश्यक है।" महाराष्ट्र के प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, शनिवार को प्रदेश में 42,462 नए कोरोनो संक्रमण के केस दर्ज किए गए हैं जो शुक्रवार से 749 कम थे। शनिवार तक, कोरोना के कुल मामलों का आँकड़ा 71,70,483 था तथा मरने वालों का आँकड़ा 1,41,779 था।

ओमिक्रॉन को हराने के लिए एक्सपर्ट्स ने दी राय, मिलेगा भारी फायदा

अखिलेश ने किसानों के लिए उत्तर प्रदेश में भाजपा को हराने का संकल्प लिया

वैक्सीनेशन के एक वर्ष हुए पूरे, जानिए उत्तरप्रदेश में कितने लोगों का हुआ टीकाकरण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -