सिजोफ्रेनिया का पता चल सकता है अंगुलियों से

सिजोफ्रेनिया का पता चल सकता है अंगुलियों से
धार्थियों ने अपने शोध में बतया है के अब अंगुलियों से सिजोफ्रेनिया का पता चल सकता है पुरुषों में तर्जनी और अनामिका की लंबाई के अनुपात से हार्मोन को असंतुलित करने वाले विभिन्न विकारों का पता चल सकता है। यह जानकारी एक अध्ययन में सामने आई है।

शोधार्थियों ने इस अध्ययन में सिजोफ्रेनिया पीड़ित 103 पुरुषों और 100 अन्य स्वस्थ्य पुरुषों को शामिल किया। शोधार्थियों ने अपने शोध में पाया कि यदि अनुपात 2डी:4डी है तो सिजोफ्रेनिया की अधिक संभावना हो सकती है यह अध्ययन शोध पत्रिका क्लिनिकल एनाटॉमी में प्रकाशि हुआ है। 

सह-लेखक तनेर ओजनुर ने कहा, "एसिमेट्री इंडेक्स से कम विभेदमूलक शक्ति का पता चलता है और इसलिए सिजोफ्रेनिया की मौजूदगी सुनिश्चित करने में एसिमेट्री इंडेक्स का उपयोग किया जा सकता है।"