सूखा राहत की राशि में घोटाला, नकली साइन से निकाले गए 18 लाख रुपए

झांसी: बुंदलेखंड में सूखा राहत के नाम पर आई करोड़ों की राशि में धांधली होने का मामला उजागर हुआ है। बुंदलेखंड के कोंच कस्‍बे में सूखा राहत के लिए आए लगभग 900 चेक चोरी कर लिए गए। इसके साथ ही अधिकारियों और किसानों के नकली हस्ताक्षर करके राशि भी निकल ली गई।

बता दे फ़िलहाल अभी तक 18 लाख रुपए निकाले जाने की जानकारी सामने आई है। मामले का भंडाफोड़ होने के बाद डीएम ने तुरंत कार्यवाही करते हुए लेखपाल अभय सिंह को अपने पद से निलंबित कर दिया। इसके साथ ही SDM संजय सिंह को जांच की कमान सौंप दी गई है। 3 कर्मचारि‍यों पर प्रकरण दर्ज करवाया गया है। यह मामला 10 अगस्‍त को तब उजागर हुआ जब कोंच में तहसीलदार रहे दुर्गेश यादव के तबादले के बाद भी उनके फर्जी हस्‍ताक्षर वाले चेक बैंक में लगाए गए। वहीं, वर्तमान तहसीलदार जितेंद्र सिंह ने मामले को गंभीरता से लिया है।

मामले की शिकायत तत्‍काल रजिस्‍ट्रार कानूनगो के जरिए कोतवाली में दर्ज कराई गई है। इस घोटाले में कई लोगों के शामि‍ल होने की आशंका सामने आ रही है। वहीं, अन्‍य अधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर रहे हैं। तहसील कोंच में सेंध लगाकर माफियाओं ने 9 चेक बुक चोरी कर ली।

इसमें कुल 900 चेक थे। कोंच तहसील में पिछले साल सूखे की राहत राशि‍ बांटने के लि‍ए ये चेक आये थी। इसके लि‍ए चेक बुक संख्या 299001 से 299100, 297201 से 297300, 294001 से 294100, 301301 से 301400, 301601 से 301700, 303101 से 303200, 303401 से 303500, 302901 से 303000, 294001 से 294100 संख्या तक की चेक कोंच तहसील में रखी हुई थी। इसके बाद नकली हस्‍ताक्षर करके खातों से लगभग 18 लाख रुपए की राशि निकल ली।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -