SBI ने अपने ग्राहकों को किया अलर्ट! गलती से भी ना करें ये काम, वरना...

बीते कुछ वक़्त से डिजिटली ट्रांजैक्शन का चलन बढ़ा है, किन्तु इसी के साथ साइबर ठग भी बहुत सक्रीय हो गए हैं। प्रतिदिन कई लोग ठगी का शिकार होते हैं। ऐसे में यह समझना बहुत आवश्यक है कि किन व्यक्तियों के साथ अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करनी चाहिए तथा किन व्यक्तियों के साथ नहीं। दरअसल फ्री गिफ्ट्स अथवा फिर वाउचर को लेकर लोगों में बहुत उत्साह देखा जाता है। ऐसे में जब भी मुफ्त गिफ्ट मिलने की बात सामने आती है, कुछ लोग आंख मूंदकर इसपर भरोसा कर लेते है, जो कि बहुत भयावह है। अक्सर देखा जाता है कि, इन गिफ्ट्स के चक्कर में फेक लिंक पर लोग क्लिक कर, अपनी मेहनत की पूरी कमाई कुछ ही मिनटों में गंवा देते है। ऐसे में SBI अपने कस्टमर्स को वक़्त-वक़्त पर साइबर ठगों से सावधान रहने की चेतावनी देता है।

SBI ने ट्वीट कर दी चेतावनी:-
दरअसल फ्रॉडस्टर नई-नई तरकीब से लोगों को लूटते है। ऐसे में SBI ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से एक वीडियो जारी किया है। इसमे SBI की ओर से बताया गया है कि, SBI कभी भी आपसे बैंक डिटेल्स, ATM तथा यूपीआई पिन शेयर करने के लिए नहीं कहता है। इसलिए यदि आपको ऐसे सन्देश आते हैं। जिनमें ATM या UPI पिन मांगा गया है, या फिर किसी लिंक पर क्लिक करने की बात कही गई है। तो इसे अनदेखा करें। बता दें, कुछ साइबर ठग SBI के नाम से लोगों को मैसेज कर डिटेल्स मांग रहे हैं।

ग्राहक सावधान रहें:-
– SBI अपने कस्टमर्स से अकाउंट नंबर, डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड विवरण नहीं मांगता
– अपने इंटरनेट बैंकिंग तथा ओटीपी नंबर किसी से साझा ना करें
– मोबाइल फोन अथवा मैसेज में आए किसी भी प्रकार के लिंक पर क्लिक ना करें

बता दें कि, साइबर ठगों की ओर से भेजे गए इन मैसेज को पकड़ना अधिक कठिन नहीं है, क्योंकि इन मैसेज में स्पैलिंग मिस्टेक अवश्य होती है। यदि आपको ऐसे मैसेज आ रहे हैं, तो उसको ध्यान से पढ़ें। इसके अतिरिक्त कस्टमर साइबर क्राइम के पोर्टल https://cybercrime।gov।in पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। या फिर हेल्प लाइन नंबर पर भी इसकी खबर दे सकते हैं।

क्रिप्टो ट्रेडिंग और होल्डिंग में बाधा पैदा कर सकता है भारत

जानिए आज घटे या बढ़े पेट्रोल डीजल के दाम

अब दवाइयों की भी डिलीवरी करेगी Flipkart, ये है प्लान

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -