DMRC करेगी जांच, किसने लगाया माता-पिता की पूजा वाला विज्ञापन

Feb 09 2016 12:32 PM
DMRC करेगी जांच, किसने लगाया माता-पिता की पूजा वाला विज्ञापन

नई दिल्ली : जहां हर साल देश के कई युवा वेलेंटाइन डे मनाते है, वहीं देश के कई युवा ऐसे भी है, जिनके दिल में देश के लिए अथाह प्रेम उमड़ने लगता है और इसी कड़ी में फेसबुक पर एक फोटो ट्रेंड कर रहा है, जिसमें लिखा गया है कि इस साल वेलेंटाइन डे पर माता-पिता की पूजा करें। यह विज्ञापन दिल्ली मेट्रो स्टेशनों पर लगाया गया है। इस विज्ञापन में इस दिन प्रेमी जोड़ों पर पुलिस की कार्रवाई का भी समर्थन किया गया है।

ये विज्ञापन धार्मिक प्रवचन बांचने वाले और कुकर्म के आरोप में जेल में बंद आसाराम बापू के संगठन ने 35 मेट्रो स्टेशनों पर लगाए है। इससे कई यात्री नाराज है। इसके बाद दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने इस विज्ञापन के जांच के आदेश दिए है।

विज्ञापन में दो तस्वीरें है। एक में बच्चे अपने माता-पिता की पूजा कर रहे है और दूसरे में एक युवा जोड़ा कान पकड़े हुए है और बगल में पुलिस खड़ी है। पोस्टर में लिखा गया है कि खुलेआम वेलेंटाइन मनाकर भ्रष्ट गतिविधि में शामिल लोगों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई करती है। वेलेंटाइन डे न मनाएं।

डीएमआरसी के मुख्य प्रवक्ता अनुज दयाल ने कहा कि ये विज्ञापन निजी ठेकेदार ने लगाए थे। दिल्ली मेट्रो परिसर के भीतर के सारे विज्ञापनों का स्थान एक एजेंसी को दिया हुआ है। जांच की जा रही है। जरुरत पड़ी तो संबंधित ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

इस संबंध में विज्ञापनदाता बाल संस्कार केंद्र के पदाधिकारी ने कहा कि विज्ञापन का उद्देश्य युवाओं को इस बारे में जागरुक करना है कि वेलेंटाइन डे भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। तस्वीर उस जोड़े की दुर्दशा को दर्शाती है, जिन्हें रायपुर के एक पार्क में वेलेंटाइन डे मनाते हुए पकड़ा गया था।