सावन के महीने में करें भोले के इन नामों का जाप, होगी हर मनोकामना पूर्ण

Jul 19 2019 08:40 AM
सावन के महीने में करें भोले के इन नामों का जाप, होगी हर मनोकामना पूर्ण

आप सभी जानते ही हैं कि हिन्दू धर्म में भगवान शिव को सबसे ऊंचा दर्जा दिया गया है और वह ऐसे हैं जो सबकी मनोकामना को पूरा करते हैं. ऐसे में भोले नाथ सब पर अपनी कृपा बरसाते हैं और उन्हें प्रसन्न करना बहुत आसान है. इस कारण से लोग उनका जाप करते हैं. अधिकतर उनका ध्यान किया जाता है. वहीं ऐसा माना जाता है कि सावन के महीने में महादेव की पूजा-अर्चना का अधिक फल मिलता है और उमापति शंकर को सावन का महीना बहुत प्रिय है. वहीं सावन के महीने में भोलेनाथ की पूजा-अर्चना का विशेष ध्यान रखा जाता है और कहते हैं अगर इस दौरान महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें तो बहुत लाभ मिलता है. इसी के साथ अगर आप इस महीने में उनके नामों का जाप करते हैं तो आपको इसका भी शुभ फल मिल सकता है. आइए जानते हैं आज भोले के उन नामों का जिनका जाप करना है इस महीने में.


भोले के नाम- हर-हर महादेव, रुद्र, शिव, अंगीरागुरु, अंतक, अंडधर, अंबरीश, अकंप, अक्षतवीर्य, अक्षमाली, अघोर, अचलेश्वर, अजातारि, अज्ञेय, अतीन्द्रिय, अत्रि, अनघ, अनिरुद्ध, अनेकलोचन, अपानिधि, अभिराम, अभीरु, अभदन, अमृतेश्वर, अमोघ, अरिंदम, अरिष्टनेमि, अर्धेश्वर, अर्धनारीश्वर, अर्हत, अष्टमूर्ति, अस्थिमाली, आत्रेय, आशुतोष, इंदुभूषण, इंदुशेखर, इकंग, ईशान, उन्मत्तवेष, उमाकांत, उमानाथ, उमेश, उमापति, उरगभूषण, ऊर्ध्वरेता, ऋतुध्वज, एकनयन, एकपाद, एकलिंग, एकाक्ष, कपालपाणि, कमंडलुधर, कलाधर, कल्पवृक्ष, कामरिपु, कामारि, कामेश्वर, कालकंठ, कालभैरव  

काशीनाथ, कृत्तिवासा, केदारनाथ, कैलाशनाथ, क्रतुध्वसी, क्षमाचार, गंगाधर, गणनाथ, गरलधर, गिरिजापति, गिरीश, गोनर्द, चंद्रेश्वर, चंद्रमौलि, चीरवासा, जगदीश, जटाधर, जटाशंकर, जमदग्नि, ज्योतिर्मय, तरस्वी, तारकेश्वर, तीव्रानंद, त्रिचक्षु, त्रिधामा, त्रिपुरारि, त्रियंबक, त्रिलोकेश, त्र्यंबक, दक्षारि, नंदिकेश्वर, नंदीश्वर, नटराज, नटेश्वर, नागभूषण, निरंजन, नीलकंठ, नीरज, परमेश्वर, पूर्णेश्वर, पिनाकपाणि, पिंगलाक्ष, पुरंदर, पशुपतिनाथ, प्रथमेश्वर, प्रभाकर, प्रलयंकर, भोलेनाथ, बैजनाथ.

20 जुलाई को है संकष्टी चतुर्थी, श्रावण में विशेष है इसका महत्त्व

अमरनाथ यात्रा: सावन महीने में बढ़ सकती है श्रद्धालुओं की तादाद, सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त

सावन में करें महामृत्युंजय मंत्र का जाप, होते हैं ये 13 चमत्कार