जानिए आखिर क्यों सावन में हरे रंग की चूड़ियां और कपड़े पहनना होता है शुभ?

सावन का माह 25 जुलाई 2021 से आरम्भ हो गया है जो 22 अगस्त 2021 तक चलेगा। महादेव इस माह का वर्षभर प्रतीक्षा करते हैं। सावन में महादेव की विधि- विधान से आराधना करने से आपकी सभी इच्छाए पूरी हो जाती है। इस माह में खास तौर पर हरे रंग की विशेष अहमियत होती है। सावने में हरियाली तीज का उपवास रखा जाता है। महिलाएं सावन में हरे रंग की चूड़ियां पहनना पसंद करती हैं। इसके अतिरिक्त कुछ व्यक्ति खास तौर पर हरे रंग के कपड़े पहनते हैं। मगर क्या आप जानते हैं सावन में खास तौर पर हरे रंग को क्यों पहना जाता है।

सावन में हरे रंग की अहमियत:-
सावन के माह में वर्षा होती है, जिसके कारण आसपास के वातावरण में हरियाली होती है। हरेभरे पेड़ पौधे आंखों को सुकून देने का कार्य करते हैं। हालांकि हरे रंग की धार्मिक अहमियत भी है। सावन में खास तौर पर महादेव एवं माता पार्वती की आराधना होती है। पूजा में विवाहित महिलाएं माता पार्वती को श्रृगांर के समान में हरी रंग की चूड़ियां अर्पित करती हैं। बताया जाता है कि हरा रंग पति एवं पत्नी के बीच प्रेम की बढ़ाता है।

सुहाग का प्रतीक माना गया है:-
सावन माह में हरे रंग की चूड़ियां एवं कपड़े पहनने की प्रथा है। हरे रंग को सुहाग का प्रतीक माना जाता है। इस माह में हरियाली तीज, हरियाली अमावस्या जैसे पर्वों में हरा रंग धारण किया जाता है।

बुध ग्रह के दोष को दूर करता है:-
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, बुध ग्रह हरे रंग का प्रतिनिधित्व करता है। परम्परा है कि कुंडली में बुध ग्रह को मजबूत करने के लिए हरे रंग को पहनना चाहिए। इससे मनुष्य की कुंडली में बुध ग्रह मजबूत होता है। बुध के हालत मजबूत होने से आपकी सभी इच्छाएं पूरी होती है।

सावन माह में भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन वरना होगा भारी नुकसान

धर्म बदलकर मोहम्मद बिलाल बन गया था डेविड, हिन्दू संगठनों ने ऐसे करवाई 'घर वापसी'

आखिर क्यों महादेव को इतना प्रिय है बेलपत्र? माता पार्वती से जुड़ा रहस्य

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -