+

इस वजह सावन का महीना होता है ख़ास, भोले को जरूर अर्पित करें यह एक ख़ास चीज़

Jul 19 2019 11:20 AM
इस वजह सावन का महीना होता है ख़ास, भोले को जरूर अर्पित करें यह एक ख़ास चीज़

आप सभी जानते ही हैं कि सावन का पवित्र महीना शुरू हो गया है और यह 5वां महीना होता है. वहीं बहुत कम लोग जानते हैं कि इस महीने को सावन का महीना क्यों कहा जाता है? ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि इस महीने को सावन का महीना क्यों कहते हैं और सावन का महीना इतना पवित्र क्यों माना जाता है? आइए जानते हैं. कहते हैं ''इस महीने के दौरान पूर्णिमा होती है यानी पूरा चांद दिखाई देता है. इस दौरान श्रवण नक्षत्र या तारें आसमान पर राज करते हैं और इस नक्षत्र के नाम से ही इस महीने का नाम रखा गया है. श्रवण मास में शिवभक्त भगवान शिव को पत्र, फुल और फल शिवलिंग पर चढ़ाते हैं.''

इसी के साथ सावन का महीना एक त्यौहार की तरह माना जाता है और यह हर धार्मिक अनुष्ठान करने के लिए सही वक्त होता है. इसी के साथ किसी भी शुभ काम की शुरूआत के लिए इस महीने को सही माना जाता है और श्रवण मास में भगवान शिव के जयकारे लगाए जाते हैं. इस समय सोमवार को सभी शिवमंदिरो में धरनात्रा शिवलिंग के ऊपर लटकाया जाता है क्योंकि इसी के कारण शिवलिंग पर हर दिन और हर रात दूध और पानी चढ़ता रहता है. वहीं इस महीने के सोमवार को सूर्योदय से पहले से लेकर सूर्यास्त तक फास्ट यानी व्रत रखना होता है और भगवान शिव इस महीने में मन से पूजा करने वालों से बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं.

सावन में हुआ समुद्र मंथन - आपको बता दें कि पुराणों में बताया गया है समुद्र में देवता और असुर अमृत के लिए मंथन सावन के महीने में ही करते हैं और इस दौरान 14 अलग-अलग प्रकार के चीजें समुद्र से निकलीं. इनमे 13 चीजें का बंटवारा तो देवताओं और असुरों के बीच हो गया, लेकिन 14वीं चीज को कोई छू भी नहीं सका क्योंकि यह एक जहर था और ये पूरी दुनिया तबाह कर सकता था इस कारण भगवान शिव ने इस 14वीं चीज को पी लिया और अपने गले में रोक लिया जिस कारण उनके गले का रंग नीला हो गया और उन्हें नीलकंठ नाम दिया गया. इसी के साथ भगवान शिव ने अपने माथे पर अर्ध चंद्र को उतार लिया और जहर का असर रोकने के लिए देवाताओं ने गंगा के पवित्र पानी को उन पर फेंकना शुरू किया. कहते हैं सावन के महीने में भगवान शिव को गंगा जल चढ़ाना सबसे महत्वपूर्ण है.

सावन के महीने में करें भोले के इन नामों का जाप, होगी हर मनोकामना पूर्ण

सावन में गलती से भी ना करें इन चीज़ों का सेवन..

अपनी सोइ हुई किस्मत जगानी है तो भगवान के चढ़े हुए फूल का ऐसे करें उपयोग