इस योजना में निवेश करके आसानी से बन सकते है करोड़पति

इस योजना में निवेश करके आसानी से बन सकते है करोड़पति

दुनिया के हर मां-बाप का सपना होता है कि उनके बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त करें और उनका उज्ज्वल भविष्य हो, लेकिन महंगाई के इस दौर में महंगी होती उच्च शिक्षा हर किसी के लिए सहज नहीं है. वहीं, बेटियों की शादी के लिए रुपये जमा करने की चिंता भी मां-बाप को लगी रहती है. ऐसे में पेरेंट्स के लिए सुकन्या समृद्धि योजना काफी मददगार साबित हो सकती है. इस योजना में छोटा-छोटा निवेश कर पेरेंट्स अपनी बेटी का भविष्य उज्ज्वल बना सकते हैं. यह योजना केवल बेटियों के लिए है. इस लोकप्रिय योजना में लॉन्ग टर्म निवेश होता है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश कर पेरेंट्स अपनी बेटी की उच्च शिक्षा और शादी के खर्चों को आसानी से पूरा कर सकते हैं. इस योजना में बेटी के 21 साल पूरे होने पर रिटर्न पाया जा सकता है. योजना के नियमों के अनुसार, पेरेंट्स अगर बेटी की कम आयु में ही योजना में निवेश करना शुरू कर देते हैं, तो वे 15 सालों तक योजना में निवेश कर सकते हैं.

आयकर छूट : सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश कर आयकर में छूट का दावा भी किया जा सकता है. इस योजना में सालाना 1.5 लाख तक का निवेश आयकर छूट के योग्य होता है. इस तरह पेरेंट्स आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत इस योजना में निवेश पर आयकर छूट का फायदा उठा सकते हैं. खास बात यह है कि इस योजना में ब्याज आय और मैच्योरिटी राशि भी करमुक्त ही होती है.

जमा की सीमा : सुकन्या समृद्धि योजना में कम से कम 1,000 रुपये जमा किये जा सकते हैं. वहीं, अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा किये जा सकते हैं. इस योजना में एक महीने में या एक साल में कितनी भी बार रुपये जमा कराए जा सकते हैं. बेटी के दसवीं कक्षा पास करने पर या 18 साल पूरे करने पर खाताधारक उसकी उच्च शिक्षा के लिए आंशिक निकासी भी कर सकते हैं.

ब्याज दर : सरकार द्वारा इस योजना पर ब्याज की दर को हर तीन महीने के लिए निर्धारित किया जाता है. सुकन्या समृद्धि योजना में इस समय 7.6 फीसद की दर से ब्याज मिल रहा है. इस योजना में खाता खुलवाते समय जो ब्याज दर रहती है, उसी दर से पूरे निवेश काल के दौरान ब्याज मिलता है. इसका मतलब है कि किसी ने SSY अकाउंट अप्रैल से जून 2020 के बीच खुलवाया है, तो उन्हें पूरी निवेश अवधि के दौरान 7.6 फीसद की दर से ब्याज मिलता रहेगा.

SSY कैलकुलेटर : अगर कोई पेरेंट्स अपनी बेटी की एक साल की आयु होने पर सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में हर महीने 12,500 रुपये अर्थात साल भर में 1.5 लाख रुपये निवेश करते हैं, तो SSY कैलकुलेटर के हिसाब से बेटी की 21 साल की आयु होने पर कुल मैच्योरिटी राशि 63.7 लाख रुपये हो जाएगी. इसमें कुल ब्याज आय 41.29 लाख रुपये शामिल है. वहीं, अगर माता और पिता दोनों ही बेटी के लिए निवेश करें, तो 21 साल की आयु होने पर कुल मैच्योरिटी राशि 1.27 करोड़ रुपये पहुंच सकती है. इस गणना में जमा अवधि 15 साल और मैच्योरिटी अवधि 21 साल रखी है.

ऑनलाइन ठगी के पीड़ितों को राहत देने आ गया बीमा, मात्र साढ़े छह रुपए है प्रीमियम

शेयर बाज़ार में फिर लौटी बहार, सेंसेक्स 35 हज़ार के पार

पेट्रोल-डीजल के दाम में क्या हुआ बदलाव ? जानिए आज के भाव