गणेश सावरकर द्वारा लिखित पुस्तक ने दावा किया था कि ईसाई धर्म पहले हिंदू सम्प्रदाय था

Feb 24 2016 08:19 AM
गणेश सावरकर द्वारा लिखित पुस्तक ने दावा किया था कि ईसाई धर्म पहले हिंदू सम्प्रदाय था

मुंबईः 1960 में प्रकाशित एक पुस्तक में यह दावा किया गया था कि ईसाई धर्म पहले हिंदू सम्प्रदाय का एक हिस्सा था। इतना ही नही पुस्तक ने यह भी दावा किया था, कि ईसा मसीह की मृत्यु कश्मीर में हुई थी। और यह भी बताया कि ईसा ने समाधि लगाई थी। यह दावा करने वाली पुस्तक के लेखक गणेश सावरकर है। जिन्होने पुस्तक में यह दावा किया था कि ईसा मसीह एक तमिल हिंदू थें।

यह भी दवा किया गया था कि अरब क्षेत्र पहले हिंदू भूमि थी और ईसा का नाम ईसा नही बल्कि केशव कृष्ण बताया गया था, और तमिल इनकी मातृभाषा थी। 1960 में जब यह पुस्तक पहली बार प्रकशित हुई थी, तब ही यह विवादास्पद हो गई थी। इसी के कारण इस पुस्तक के प्रकाशन को बंद कर दिया गया था पर एक बार फिर यह पुस्तक को दुबारा से 26 फरवरी को प्रकाशित किया जायेगा। क्योकि यह हिंदुत्व विचारक की पुण्यतिथि है।

स्वतंत्रता वीर सावरकर नेशनल मेमोरियल के अध्यक्ष रंजीत सावरकर ने बताया कि, यह मराठी पुस्तक को अब मेमोरियल लाया जायेगा। क्योंकि इसमें सावरकर के सहित्य एवं विचारो का संरक्षण समाहित है। वही एक और पुस्तक ‘क्राइस्ट परिचय‘ ने यह दावा किया है कि यीशू जन्म से ही एक विश्वकर्मा ब्राहम्ण थें।