'सावरकर ने दिया था द्वी-राष्ट्र सिद्धांत..', विभाजन की बरसी पर कांग्रेस ने लगाए आरोप

नई दिल्ली: आज यानी 14 अगस्त को पूरा देश विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के तहत बंटवारे के दर्द को याद कर रहा है और उस समय जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दे रहा है। लेकिन इसी बीच कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बाद आरोप लगाया है। कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस मनाने के पीछे पीएम मोदी की वास्तविक मंशा दुखद ऐतिहासिक घटनाओं को सियासी लाभ के लिए प्रयोग करने की है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश ने कहा है कि विभाजन की त्रासदी का उपयोग नफरत और पूर्वाग्रह की भावना को भड़काने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। जयराम रमेश ने आगे कहा कि नफरत की राजनीति हारेगी और कांग्रेस गांधी, नेहरू, पटेल व अन्य नेताओं की विरासत को आगे बढ़ाते हुए राष्ट्र को एकजुट करने की कोशिश जारी रखेगी। बता दें कि पीएम मोदी ने गत वर्ष ऐलान किया था कि लोगों के संघर्ष और बलिदान की याद में 14 अगस्त के दिन विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस मनाया जाएगा।

इस पर जयराम रमेश ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, 'लाखों लोग विस्थापित हुए और लाखों की मौत हुईं। उनके बलिदानों को भुलाया या निरादर नहीं किया जाना चाहिए। बंटवारे की त्रासदी का गलत इस्तेमाल नफरत और पूर्वाग्रह की भावना को भड़काने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। सच यह है कि सावरकर ने द्वि-राष्ट्र का सिद्धांत दिया और जिन्ना ने इसे आगे बढ़ाया। पटेल ने लिखा था कि मुझे लगता है कि यदि विभाजन स्वीकार नहीं किया गया, तो भारत कई टुकड़ों में बंट जाएगा।'

सीएम योगी को बम से उड़ाने की धामकी देने वाला सरफ़राज़ राजस्थान से गिरफ्तार

इंदौर में तिरंगे का अपमान, ड्रेनेज के पास जफ़र-इमरान ने फहराया राष्ट्रीय ध्वज

उन्नाव में खतरे के निशान के करीब पहुंची गंगा, कई गाँवों पर मंडराया बाढ़ का ख़तरा

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -