सऊदी अरब ने ईरान से तोड़े रिश्‍ते, 48 घंटे के भीतर ईरानी दूतों को दिया जाने का आदेश

Jan 04 2016 03:00 PM
सऊदी अरब ने ईरान से तोड़े रिश्‍ते, 48 घंटे के भीतर ईरानी दूतों को दिया जाने का आदेश

रियाद: साउदी अरब द्वारा एक शिया धर्मगुरू को मौत की सजा दिए जाने के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने तेहरान स्थित उसके दूतावास पर हमला कर दिया. इस हमले के बाद सऊदी अरब ने ईरान के साथ अपने राजनयिक रिश्ते ख़त्म करने का ऐलान किया है. इस बारे में सउदी अरब के विदेश मंत्री अबेल अल जुबरी ने जानकारी देते हुए बतया की सभी ईरानी दूत 48 घंटों के अंदर सऊदी अरब से चले जाएं.

उन्होंने एक पत्रकार वार्ता करते हुए जानकारी दी की सऊदी अरब ईरान के साथ राजनयिक संबंध खत्म कर रहा है. और ईरानी राजनयिक मिशन के सभी सदस्यों से 48 घंटों के भीतर वापस ईरान चले जाने की अपील करता हुआ. आपको बताते चले की लोगों के समूह ने सऊदी अरब के शेख निम्र अल निम्र को मौत की सजा सुनने के विरोध में तेहरान में सऊदी दूतावास और मशहाद में वाणिज्य दूतावास पर हमला बोल दिया. बता दे की 56 साल के अल निम्र वर्ष 2011 में सऊदी अरब में सरकार विरोधी आंदोलनों के प्रमुख नेता रहे.

जानकारी दे की अल निम्र को 47 लोगों के साथ शनिवार को मौत कि सजा सुनाई है. जिन अन्य लोगों को मौत की सजा सुनाई गई वे शिया और सुन्नी कार्यकर्ता थे, जिनके बारे में सऊदी गृह मंत्रालय का मानना है की वे सभी अल कायदा के हमलों में संलिप्त थे. इनमें से कुछ से सिर कलम कर दिए गए और अन्य को गोली मारी से मार दिया गया. ईरान ने दूतावास पर हमला करने के अपराध में 44 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इस घटना की निंदा करते हुए राष्ट्रपति हसन रूहानी ने पूर्ण रूप से गलत बताया, लेकिन ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमेनी ने अल निम्र को सजा-ऐ- मौत सुनाने पर कहा की अल्लाह सऊदी अरब को कभी माफ नहीं करेगा.