सऊदी अरब सरकार ने 11 महीने से कैद प्रिंस अल-वाहिद के भाई को छोड़ा

रियाद: विश्वभर में सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी की मौत की चर्चाएं अब तक शांत नहीं हुई हैं। अमेरिकी मूल के पत्रकार खशोगी की मौत सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में हुई थी और इस बात की पुष्टि भी हो चुकी है। जानकारी के अनुसार बता दें कि पत्रकार खशोगी की मौत के बाद सऊदी अरब ने अरबपति प्रिंस अल-वाहिद बिन तलाल के भाई को करीब एक साल की हिरासत के बाद अब रिहा कर दिया है।

परमाणु विवाद को लेकर फिर उलझे अमेरिका और उत्तर कोरिया

यहां बता दें कि पत्रकार जमाल खशोगी की मौत के मामले में सऊदी अरब पर बन रहे अंतरराष्ट्रीय दबाव के चलते यह रिहाई हुई है। वहीं प्रिंस खालिद बिन तलाल की रिहाई की पुष्टि उसके तीन रिश्तेदारों ने शनिवार को ट्विटर पर की साथ ही उन्होने खालिद की तस्वीरें भी पोस्ट की हैं। बता दें कि खालिद का बेटा वर्षों से कोमा में है और हिरासत से बाहर आए प्रिंस की तस्वीरें साझा करते हुए उनकी भांजी प्रिंसेस रीम बिन्त अल-वाहिद ने लिखा है कि अल्लाह का शुक्र है कि आप सुरक्षित हैं। 

चीन में भीषण सड़क गुर्घटना, 31 वाहनों में टक्कर, 15 की मौत

गौरतलब है कि जमाल खशोगी की मौत के बाद अरब में हालात गंभीर हो गए हैं और सऊदी सरकार पर भी इसकी जांच के लिए दबाव बनाया जा रहा है। बता दें कि पत्रकार जमाल खशोगी की मौत के मामले में सऊदी अरब पर बन रहे अत्यधिक अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच ही प्रिंस की रिहाई हुई है। वहीं वॉल स्ट्रीट जर्नल की खबर के अनुसार प्रिंस को देश के प्रतिष्ठित लोगों के खिलाफ हुई कार्रवाई की आलोचना करने के लिए 11 महीने पहले हिरासत में लिया गया था। 


खबरें और भी 

भारत में अभद्र व्यवहार होने पर पाकिस्तान हॉकी कोच करेंगे खिलाड़ियों पर सख्त कार्रवाई

विश्व का सबसे खुशहाल देश में क्यों बढ़ रहा है आत्महत्या का ग्राफ ?

अमेरिकी सीमा की ओर पैदल ही बढ़ रहे है हजारों शरणार्थी, सेना को अलर्ट रहने का आदेश जारी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -