चमत्कार से भरा हुआ था श्री सत्य साई बाबा का जीवन

Nov 23 2020 01:24 AM
चमत्कार से भरा हुआ था श्री सत्य साई बाबा का जीवन

आप सभी को बता दें कि आज श्री सत्य साईं बाबा का जन्म आज के दिन हुआ था लेकिन अब वह इस दुनिया में नहीं है. उनका जीवन रहस्यों से घिरा रहा है और उन्होंने अपने जीवन काल में कई ऐसे चमत्कार किये जिससे लोग इन्हें अपना गुरु मानने लगे. आपको बता दें कि इनका जन्म आन्ध्र प्रदेश के पुट्टपर्थी गांव में 23 नवम्बर 1926 को हुआ था और श्री सत्य साईं बाबा के जन्मदिवस पर साईं सप्ताह के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. ऐसे में आप जानते ही होंगे सत्य साईं बाबा में आस्था रखने वाले लोग देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मौजूद हैं और आज विश्व के 148 देशों में सत्य साईं केंद्र स्थापित हैं.

इसी के साथ भारत में कई साईं संगठन हैं और वहां पर साईं भक्त श्री सत्य साईं बाबा के आध्यात्मिक नियमों का पालन करते हुए बाबा के आध्यात्मिक संदेशों का प्रसार कर रहे हैं. इसी के साथ उनके अनुयायी उन्हें शिरडी के साईं बाबा का अवतार मानते हैं. कहा जाता है सत्य साईं बाबा हमेशा अपने प्रवचनों के माध्यम से कहते रहे कि ''‘मैं देह स्वरूप नहीं हूं, मैं आत्मा स्वरूप हूं, मुझे देह मानने की भूल न करो.'' इसी के साथ उन्होंने इस बात की भी भविष्यवाणी कर दी थी कि उनके अगले अवतार प्रेमा साईं का जन्म 2024 में होगा. जी हाँ, आपको बता दें कि सत्य साईं बाबा के भक्त उन्हें चमत्कारिक पुरुष मानते थे और उनके कई ‘चमत्कार’ चर्चा में भी रहे हैं. इसी के साथ कुछ लोग इनके चमत्कारों को हाथ की सफाई माना करते थे.

इनके हवा से भभूति बरसाना, हाथों में सोने की चेन या अंगूठी का अचानक आ जाना, शिवरात्रि पर सोने का शिवलिंग अपने मुंह से निकालना आदि चमत्कार ऐसे थे जिनसे इनके भक्तों के मन में इनके प्रति श्रद्धा-विश्वास और गहराता चला गया लेकिन कई लोग इसे नहीं मानते थे. कहते हैं सत्य साईं बाबा के जन्म के समय भी चमत्कार हुआ था जब घर में रखे वाद्ययंत्र अचानक से बजने लगे थे और सत्य साईं बाबा से जुड़ी कई कहानियां है जो प्रसिद्ध हैं. कहा जाता है इनके स्कूल में एक दिन उनके टीचर ने उन्हें बिना किसी कारण बेंच पर खड़ा कर दिया था और वह टीचर की बात मानकर चुपचाप घंटों बेंच पर खड़े भी रहे और जब क्लास खत्म हुई तब उनके टीचर जैसे ही अपनी कुर्सी से उठने लगे तो वह नहीं खड़े हो पाए. कहते हैं ऐसा सत्य साईं बाबा के ‘चमत्कार’ के कारण हुआ था.

ड्रग्स केस: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मालिक बोले- बॉलीवुड को बलि का बकरा बना रही NCB

ओवैसी बोले- केवल चुनाव के समय ही सक्रीय होती हैं भाजपा-TRS और कांग्रेस

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर पलटी बस, अंदर बैठे थे 82 यात्री