इस दिन है षटतिला एकादशी , जानिए क्या होते हैं व्रत रखने के लाभ

आप सभी को बता दें कि 31 जनवरी को माघ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी है जिसे षटतिला एकादशी कहते हैं. ऐसे में षट यानी छह और तिला यानि तिल. कहते हैं इस एकादशी के दिन तिल को छह प्रकार से प्रयोग में लाया जाता है और इस दिन तिल से स्नान करना, तिल का उबटन लगाना, तिल से हवन करना, तिल से तर्पण करना, तिल का भोजन करना और तिलों का दान करना ये छह प्रकार होते हैं. कहते हैं षटतिला एकादशी के दिन भगवान विष्णु का तिल से पूजन करने से सभी सुख मिल जाते हैं और इस बार षटतिला एकादशी का व्रत 31 जनवरी को है. आइए बताते हैं इससे क्या लाभ होते हैं.

क्या है लाभ - कहते हैं षटतिला एकादशी का व्रत करने से आयु और आरोग्य की प्राप्ति होती है. इसी के साथ इस दिन तिल का छह प्रकार से प्रयोग करने से व्यक्ति को रोगों से मुक्ति मिल जाती है. कहते हैं इससे आयु में वृद्धि होती है और षटतिला एकादशी का व्रत करने से नेत्र के रोग दूर हो जाते हैं. इसी के साथ इस व्रत को करने से भगवान विष्णु और लक्ष्मी की पूर्ण कृपा प्राप्त होती है और धन-संपदा में वृद्धि होती है.

कहते हैं यह व्रत सुहागनों को अखंड सौभाग्यवती बना देता है और दंपतियों को जोड़े से यह व्रत करने से बहुत लाभ होता है. कहा जाता है इस दिन किसी योग्य ब्राह्मण को तिल से भरा कलश दान करना चाहिए क्योंकि इससे आपके घर में धन-संपदा के भंडार भरे रहते हैं और व्रत के प्रभाव से समस्त पापों का नाश हो जाता है. कहा जाता है यह व्रत मोक्ष का मार्ग खुल जाते हैं.

रात में इस रंग के कपड़े में बांधकर सो जाए इलायची और सुबह करें यह काम, हो जाएंगे अमीर

मंदिर में इस तरीके से चढ़ाए भगवान को पैसे वरना हो सकते हैं गरीब

मनी प्लांट को पानी देने के बाद कर लें यह काम, बन जाएंगे करोड़ो के मालिक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -