जब मरूं तो मुझे रणदीप ही कंधा दें.....

फिल्म ‘सरबजीत’ जो कि बॉलीवुड के मशहूर निर्देशकों में शामिल निर्देशक उमंग कुमार के निर्देशन में  बनी है. बता दे कि फिल्म 'सरबजीत' के निर्देशक उमंग कुमार ने अपने बयान में कहा कि यह सिर्फ एक फिल्म नहीं है, इसे मनोरंजन का साधन नहीं समझा जाए। उमंग ने आगे कहा कि ये एक प्रयास उनके लिए हैं, जिन्होंने बिना किसी गुनाह के सालों दूसरे मुल्कों की जेलों में बिता दिए.

अगर इस फिल्म को देखने के बाद भारत या पाकिस्तान की जेलों में बंद बेगुनाहों में से किसी एक को भी आजादी मिलती है तो यह हमारी फिल्म की बड़ी कामयाबी होगी। फिल्म 'सरबजीत' जो कि जल्द ही 20 मई को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है। आपको बता दे कि 20 मई को ही सरबजीत की तीसरी पुण्यतिथि है. इसी दिन यह फिल्म सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने वाली है. फिल्म 'सरबजीत' की जिंदगी पर बेस्ड इस फिल्म में अभिनेता रणदीप हुड्डा सरबजीत का किरदार अदा कर रहे हैं.

इस मौके पर सरबजीत की बहन दलबीर कौर ने जो रणदीप हुड्डा से कहा वो वाकई भावुक कर देने वाली बात थी. सरबजीत की बहन ने अपने बयान में कहा कि उन्हें रणदीप हुड्डा बिलकुल अपने भाई सरबजीत जैसे ही लगते है तथा में कहना चाहती हु कि, 'मैंने असल में रणदीप हुड्डा में सरबजीत को देखा है. यह मेरे लिए कोई स्टार नहीं बल्कि मेरा भाई सरबजीत ही है. और मैं खुश हूं जो मुझे रणदीप के रूप में सरबजीत मिला. मेरी इच्छा है मैं जब मरूं तो मुझे रणदीप ही कंधा दें, इससे मेरी आत्मा को शांति मिलेगी.'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -