आज है संकष्टी चतुर्थी, यहाँ जानिए व्रत का महत्व

आप सभी को बता दें कि आज 8 जून को संकष्टी चतुर्थी मनाई जा रही है. ऐसे में संकष्टी चतुर्थी के दिन संकट को हरने वाले गणेश भगवान की पूजा-अर्चना की जाती है. इसी के साथ यह अषाढ़ माह में पड़ने वाली चतुर्थी है. आप सभी को बता दें कि इसे कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी भी कहते हैं. जी दरअसल आज के दिन भक्त गणेश भगवान की पूजा अर्चना करते हैं और लाभ पाते हैं. वहीं धार्मिक मान्यताओं को माना जाए तो, कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी के दिन ही महाकाल भगवान शिव ने इस बात की घोषणा की थी कि गणेश भगवान को सबसे महत्वपूर्ण माना जाएगा.

इसी के साथ ही हर पूजा में सबसे पहले गणेश भगवान की वंदना की जाएगी. ऐसी मान्यता है कि कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी का व्रत करने वाले भक्तों के जीवन से बाधाओं और परेशानियों का नाश होता है. कहते है कि अगर इस दिन रुद्राभिषेक पूजा करवाई जाती है तो इससे भगवान शिव की कृपा प्राप्त होती है जिससे कि खुशहाली और सम्पन्नता बनी रहती है. आइए आज जानते हैं कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी व्रत का महत्व.

कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी व्रत का महत्व - धार्मिक मान्यताओं को माना जाए तो गणेश भगवान के इस रूप की पूजा अर्चना करने से यश, धन, वैभव और अच्छी सेहत की प्राप्ति होती है. इसी के साथ ही सभी प्रकार के संकट और कष्टों का निवारण भी होता है. इस दिन गणेश जी का पूजन करने से बड़ा लाभ होता है क्योंकि इस दिन जो उनका पूजन करता है उसे धन, सम्मान, वैभव सब मिलता है और वह खुशहाल जीवन बिताता है.

जानिए कैसा होगा आज आपका दिन, क्या कहते है आपके सितारें

इस बार गर्भगृह में 16 दिन तक एकांतवास में रहेंगे श्री जगन्नाथ

रविवार के दिन जरूर करें सूर्य देव की यह आरती

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -