म.प्र : पहली ऐसी ट्रांसजेंडर बनीं संजना जिन्होंने पाई सरकारी नौकरी

Mar 12 2019 08:50 AM
म.प्र :  पहली ऐसी ट्रांसजेंडर बनीं संजना जिन्होंने पाई सरकारी नौकरी

मध्य प्रदेश की संजना सिंह नामक एक ट्रांसजेंडर को सामाजिक न्याय और विकलांग कल्याण विभाग के निदेशक के निजी सचिव के रूप में नियुक्त किया गया है. सूत्रों की माने तो इस ट्रांसजेंडर महिला को कृष्ण गोपाल तिवारी का निजी सचिव नियुक्त किया गया है. इस बड़ी उपलब्धि के साथ संजना भोपाल में सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेने वाली और सरकारी नौकरी पाने वाली राज्य की पहली ट्रांसजेंडर बन गई हैं. 

संजना की उम्र 36 वर्ष है और उन्हें 1 मार्च को कृष्ण गोपाल तिवारी द्वारा नियुक्त किया गया था. उसे जिला कानूनी प्राधिकरण का कानूनी स्वयंसेवक और लोक अदालत का सदस्य भी बनाया गया है जहाँ पर संजना न्यायाधीश के साथ लंबित मामलों की सुनवाई करेगी. संजना राजधानी भोपाल के अशोका गार्डन इलाके से रहने वाली हैं और उन्होंने बारहवीं कक्षा के बाद पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी. लेकिन कुछ मीडिया सूत्रों में यह बताया गया है कि उसने अपनी पढ़ाई फिर से शुरू कर दी है. संजना ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, 'तिवारी जी ने एक अच्छा कदम उठाया है. आने वाले दिनों में हमारे समुदाय के लोगों को बेहतर अवसर मिलेंगे. अगर हमारे समुदाय को पर्याप्त अवसर दिए जाएं, तो हम समाज के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं. यह एक छोटा सा बदलाव है भविष्य में बड़े बदलाव होंगे.'

इतना ही नहीं संजना ने सरकारी नौकरियों में ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए आरक्षण की मांग करते हुए कहा कि, 'अगर आरक्षण दूसरों को प्रदान किया जा सकता है तो हमें क्यों नहीं.' संजना ने आगे यह भी कहा कि, 'ट्रांसजेंडर के बारे में समाज में जागरूकता फैलाने की आवश्यकता है. अगर समाज हमें स्वीकार नहीं करता है, तो हम अपनी बाधाओं को नहीं तोड़ पाएंगे.' जानकारी के लिए बता दें ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी राज्य ट्रांसजेंडर को सरकारी नौकरी मिली है.

आज दुखों के पहाड़ से टूटने वाले हैं इस राशि के लोग, इनके लिए आएगी बड़ी खबर

गुजरात में कांग्रेस को एक और झटका, MLA ने इस्तीफा देकर थामा भाजपा का हाथ

गुजरात में कांग्रेस को एक और झटका, MLA ने इस्तीफा देकर थामा भाजपा का हाथ