उपचुनाव में हार के बाद अखिलेश के अपने हुए बेगाने, संजय चौहान ने दिखाए तेवर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में मिली शिकस्त के बाद समाजवादी पार्टी (सपा) गठबंधन में एक बार फिर विरोध के स्वर दिखने लगे हैं। उपचुनाव में सपा की शिकस्त पर राजभर पहले ही अखिलेश को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। यही नहीं राजभर अखिलेश को AC कमरों से निकलकर लोगों के बीच जाने की भी नसीहत दे चुके हैं। अब जनवादी पार्टी सोशलिस्ट के नेता संजय चौहान ने भी अखिलेश के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

मीडिया से बात करते हुए जब संजय चौहान से दारा सिंह चौहान और स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में आने को लेकर सवाल पुछा गया, तो उन्होंने जवाब दिया कि, ये विधानसभा चुनाव से पहले आए। ये दोनों दगे हुए कारतूस हैं। अखिलेश यादव को ये फैसला करना होगा, इन दगी हुई कारतूसों की मदद से जंग नहीं जीती जाती। इनको महत्व देकर और अच्छे लोगों को किनारे करने का ये नतीजा सामने आया है। 

उपचुनाव हारने के बाद सपा अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए संजय चौहान ने कहा कि, हमारी उपेक्षा की जा रही है, जबकि हम लोग ईमानदारी से अखिलेश यादव के सिपाही बनकर काम कर रहे हैं। आगे भी कोशिश करेंगे, किन्तु यदि हमें इसी तरह से अनदेखा किया गया तो हम 2024 तक साथ रहने पर विचार करेंगे।

CM की कुर्सी जाते ही उद्धव को तेवर दिखाने लगी कांग्रेस, कल तक साथ चला रहे थे सरकार

अग्निपथ योजना के खिलाफ पंजाब विधानसभा में प्रस्ताव पेश

कांग्रेस नेता वही बोलेंगे जो गांधी परिवार सुनना चाहेगा ? प्रमोद कृष्णन और मनीष तिवारी को पड़ी फटकार

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -