11 महीने से फरार थे, जैसे ही सपा से टिकट मिला.., नामांकन भर नाहिद हसन ने किया सरेंडर

लखनऊ: कैराना विधानसभा सीट से सपा MLA और गठबंधन के उम्मीदवार नाहिद हसन ने कैराना कोतवाली में आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस ने नाहिद को अदालत में पेश किया, जहां सुनवाई चल रही है। दरअसल, प्रथम चरण के चुनाव के नामांकन के पहले दिन ही गैंगस्टर के केस में फरार चल रहे नाहिद हसन के प्रस्तावकों ने वकील की उपस्थिति में SDM कोर्ट शामली में नामांकन दाखिल कराया।

नाहिद हसन के प्रस्तावक मनीष और इंतजार ने वकील राशिद चौहान की उपस्थिति में SDM कोर्ट से नामांकन पत्र लिया और दोपहर बाद उसे दायर करा दिया। कैराना विधानसभा सीट से सपा-रालोद गठबंधन के उम्मीदवार सपा MLA नाहिद हसन वर्ष-2017 में निर्वाचित हुए थे, मगर उनका विवाद में रहने का सिलसिला इससे पहले से ही चला आ रहा है। बीते कुछ वर्षों में नाहिद हसन और जिला प्रशासन में तनातनी भी सुर्ख़ियों में रही है।

कैराना कोतवाली सहित कई थानों में उनके खिलाफ दो दर्जन के करीब केस दर्ज हैं। सीओ और SDM से बदतमीजी के आरोप में दर्ज केस में तो उनकी फरारी की मुनादी तक कराई गई थी। लगभग 11 माह पूर्व कैराना कोतवाली में MLA नाहिद हसन, उनकी मां पूर्व सांसद तबस्सुम हसन सहित 40 लोगों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में केस दर्ज किया गया था, इसी समय से नाहिद हसन और उनकी मां तबस्सुम हसन फरार थे।

यूपी चुनाव में पीएम मोदी ने खुद संभाला मोर्चा, टिकट बंटवारे पर बैठक में हुए शामिल

यूपी में शुरू हुआ उम्मीदवारों का नामांकन, सपा के नाहिद हसन ने सबसे पहले भरा पर्चा

कोर्ट ने घोषित किया भगोड़ा, काटी फरारी...अब 'अखिलेश यादव' ने दिया विधानसभा चुनाव का टिकट

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -