सलमान के जेल जाने पर नहीं होगा पीडि़तों को लाभ, उठी मुआवजे की मांग

May 07 2015 09:38 AM
सलमान के जेल जाने पर नहीं होगा पीडि़तों को लाभ, उठी मुआवजे की मांग

मुंबई : वर्ष 2002 के हिट एंड रन मामले में पीडि़त परिवार ने अब मुआवजे की मांग की है। उन्होंने कहा कि मसला दोषी को जेल भेजने से अधिक पीडि़त परिवार को मुआवज़ा मिलने से संबंधित है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2002 के हिट एंड रन मामले में हाल ही में सेशंस कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए उन्हें 5 साल की जेल की सजा सुनाई। मगर हाईकोर्ट में जमानत याचिका दायर करने के बाद सलमान को 2 दिनों की अंतरिम जमानत दे दी गई है।

मिली जानकारी के अनुसार मुंबई में हुए हिट एंड रन केस में दोषी करार दिए गए फिल्म अभिनेता सलमान खान को जहां कोर्ट द्वारा दो दिनों की अंतरिम जमानत मिलने से राहत मिली है वहीं हादसे में पीडि़त अब्दुल्ला रउफ शेख ने कहा कि उसे अपनी टांग खोनी पड़ी। 13 वर्षों से वह जिंदगी की जंग जैसे तैसे लड़ रहा है। इतने वर्षों में कोई भी उसे पूछने नहीं आया। उसने कहा कि मुझे अपने जीवन के दौर में बड़ी परेशानी झेलनी पड़ी है। पीडि़त ने कहा कि उसे हादसे में अपनी टांग गंवानी पड़ी है।

जिससे उसका जीवन प्रभावित हो रहा है। जब उनकी टांग दुर्घटना में प्रभावित हुए तब वे 22 वर्ष के थे। हालांकि उन्होंने कहा कि उनके दिल में सलमान के प्रति कोई नफरत की भावना नहीं है। यही नहीं उनका कहना था कि यदि सलमान को जेल भेज भी दिया जाता है तो इससे उन्हें क्या फर्क पड़ेगा। दूसरी ओर इस दुर्घटना में अपनी जान गंवाने वाले नूरउल्लहा महबूब शरीफ की पत्नी ने कहा कि उन्हें करीब 10 लाख रूपए मुआवजे की बात कही गई थी। बढ़ती महंगाई के दौर में थोड़े से पैसे से काम कैसे चलेगा। उनका कहना था कि यदि उनके बेटे को नौकरी दे दी जाती तो उन्हें लाभ होता।