महारष्ट्र में साधुओं की हत्या से आक्रोश में संत समाज, माँगा उद्धव का इस्तीफा

मथुरा: पालघर के बाद अब नांदेड़ में साधु की बेरहमी से हत्या हुई है. नांदेड़ में रविवार को साधु सहित 2 लोगों का क़त्ल कर दिया गया है. साधु शिवाचार्य और भगवान शिंदे नाम के शख्स का बाथरूम में शव मिला. दोनों की हत्या गला रेतकर की गई हैं. एक महीने के अंदर निरपराध साधुओं पर जानलेवा हमले को लेकर महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर सवाल उठ रहे हैं.

ऐसे में वृंदावन का संत समाज बहुत आक्रोश में है. वृंदावन के मुख्य संतों ने साधुओं की हत्या के लिए महाराष्ट्र सरकार को दोषी करार दिया है. धर्माचार्य बिपिन बापू का कहना है कि जो महाराजा शिवाजी के पद चिन्हों पर चले, हिंदुत्व के हिमायती थे, राम और सनातन की बात करते थे. उनके शासन में यदि ऐसा होता है तो उनको गद्दी से खुद ही उठ जाना चाहिए. जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर नवल गिरी महाराज ने कहा है कि सरकार को कड़े कदम उठाते हुए कोई कानून बनाना चाहिए. 

वहीं काशी विद्वत परिषद के कार्ष्णि नागेंद्र महाराज ने कहा कि जब इस देश मे साधु-संतों का ही क़त्ल होगा तो सवाल उठेंगे ही. इसके लिए महाराष्ट्र की उद्धव सरकार दोषी है. जो संतों की हत्याओं को रोकने में विफल हुई है. अंतरराष्ट्रीय भागवत वाचक डॉक्टर मनोज मोहन शास्त्री ने बताया कि हृदय विरक्त हो उठता है, नींद नहीं आती है. केंद्र और राज्य सरकारों को चिंतन मनन करने की जरुरत है.

दो महीने बाद शुरू हुई उड़ानें, कई फ्लाइट्स हुई कैंसिल, परेशान हुए यात्री

क्या श्रम कानूनों में बदलाव ला पाएंगी उघोग जगत में गति ?

देश में नौकरी को लेकर इतने प्रतिशत लोग भटक रहे बेरोजगार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -