जिला जेल में साध्वी का हुआ सत्संग, बंदियों ने नशा नहीं करने की ली शपथ

छिंदवाड़ा से शुभम सहारे की रिपोर्ट

छिंदवाड़ा। परम पूज्य संत आशाराम बापू की प्रेरणा से देशभर की जेलों में बंद कैदियों के उत्थान हेतु जगह- जगह सत्संग आयोजन सम्पन हो रहें है। इसी कड़ी में बापू की कृपा पात्र शिष्या साध्वी प्रतिमा का दिव्य सत्संग जिला जेल में सम्पन्न हुआ। साध्वी ने सभी बंदियों को बताया कि कोई भी नशा मनुष्य के लिये घातक होता है। वैज्ञानिक कहते हैं कि 1 बीड़ी या सिगरेट पीने में 5 मिनिट लगते है दिन भर में अपने 10 बीड़ी पी तो आपके 50 मिनिट आयु खत्म और शराब पीने से कैंसर और अन्य कई रोगों की प्रबल संभावना होती है। शराब का कुप्रभाव आने वाली 10 पीढ़ियों तक रहता है, अत्यधिक अपराध और एक्सीडेंट शराब के कारण ही होतें है जिससे पूरा परिवार तबाह होता है। 

वहीं हरि नाम के कीर्तन या ध्यान, भजन, पूजन से हमारी 21 पीढ़ी तरति है। सभी बंदियों ने भविष्य में नशा नहीं करने का संकल्प लिया। देश भर में 1339 जेल हैं जिसमें लगभग 5 लाख बंदी निवासरत हैं। सभी को नशे से और अपराध से सावधान रहने की सीख दी जा रही है। जिला जेल में निवासरत लगभग 750 बंदी और सैकड़ों स्टॉफ़ के अधिकारियों ने सत्संग का लाभ लिया। श्री योग वेदांत सेवा समिति के साधकों ने जेल अधिकारियों को कैदियों के लिए जीवन उपयोगी सत्साहित्य और नशे से सावधान रहने वाली किताब भेंट की। जेल अधिकारियों और सभी बंदियों ने साध्वी बहन से बार बार सत्संग आयोजन हेतु प्रार्थना की, जिसे साध्वी बहन से सहर्ष स्वीकार कर लिया। 

इस दैवीय कार्य में साध्वी रेखा, समिति के अध्यक्ष मदनमोहन परसाई, खजरी आश्रम के संचालक जयराम, गुरूकुल की संचालक दर्शना खट्टर, युवा सेवा संघ के अध्यक्ष दीपक डोईफोड़े, अशोक कराड़े, सुजीत सूर्यवंशी, धनाराम सनोडिया, विनय सनोडिया, दीपा डोडानी, छाया सूर्यवंशी, चेतना बहन मुख्य रूप से उपस्थित रहे। समिति के अध्यक्ष मदनमोहन परसाई ने जिला जेल अधीक्षक यजुवेंद्र वाघमारे और सम्पूर्ण जेल स्टॉफ़ का आभार व्यक्त किया साथ ही गरीब बंदियों को निःशुल्क कानूनी सहायता उपलब्ध कराए जाने का भरोसा दिलाया।

भादवामाता मंदिर का होगा भव्‍य निर्माण, 26 करोड़ के निर्माण कार्यो का हुआ भूमिपूजन

बस और बाइक में जोरदार टक्कर:बाइक सवार गंम्भीर रूप से घायल

नकली पुलिस बनकर घूम रहे थे तीन युवक,पुलिस ने मौके पर धर दबोचा

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -