नए नियमों के हिसाब से हजारों रन और बना सकते थे सचिन और सौरभ

भारत के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को लगता है कि उनके जमाने में अगर आज के नियम होते तो वह सचिन तेंदुलकर के साथ मिलकर और रन बना लेते. गांगुली का कहना है कि, दो नई गेंदों और फील्ड प्रतिबंध के नए नियम के चलते उनकी और सचिन की जोड़ी और 4,000 रन बना सकती थी. इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने मंगलवार को खेल के दो दिग्गजों की साझेदारी के रिकॉर्ड को साझा किया.

आईसीसी के ट्वीट पर बोले दिग्गज: सचिन और गांगुली ने मिलकर एक साथ 47.55 के औसत के साथ वनडे में 176 पारियों में 8,227 रन बनाए. यह एक रिकॉर्ड है, आपको बता दें एकदिवसीय मैचों में एक साथ किसी अन्य जोड़ी ने 6,000 से भी ज्यादा रन नहीं बनाए हैं. आईसीसी की पोस्ट पर रिप्लाई करते हुए, तेंदुलकर ने गांगुली से पूछा कि, आपको क्या लगता है कि हम इन नए नियमों के साथ और कितने रन बना सकते थे. जब घेरे के बाहर 4 फील्डर और 2 नई गेंदें हों. गांगुली ने इस पर जवाब दिया, "4000 रन और होते. दो नई गेंदें..वाह .. खेल के पहले ओवर में बाउंड्री के लिए एक कवर ड्राइव की तरह लगती है.

ये हैं आधुनिक क्रिकेट के नियम: आधुनिक क्रिकेट में, एक वनडे पारी प्रत्येक छोर से दो नई सफेद गेंदों के साथ खेली जाती है. फील्ड रिस्ट्रिक्शन की बात करें तो, पचास ओवर के खेल को तीन पावरप्ले में विभाजित किया गया है. खेल के पहले दस ओवरों में, 30-यार्ड सर्कल के बाहर केवल दो फील्डर्स की अनुमति है, जबकि अगले 30 ओवरों में सर्कल के बाहर चार फील्डर्स की अनुमति है. खेल के अंतिम दस ओवरों में, पांच क्षेत्ररक्षकों को सर्किल के बाहर रखा जाता है.

बड़ी ही अजब- गजब है शोएब मलिक की प्रेम कहानी

बेटी और पत्नी संग अल्लू अर्जुन की मूवी के गाने पर थिरके डेविड वार्नर के कदम

,क्रिकेट फैंस को झटका, कोरोना वायरस के चलते ICC ने रद्द किए दो बड़े टूर्नामेंट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -