भारत के पहले व्यक्ति साबू दस्तगीर जिन्होंने हॉलीवुड में लहराया था सफलता का परचम

इंडियन सिनेमा का अपना प्रभाव है, इंडियन सिनेमा अब 100 वर्ष से अभी अधिक पुराना हो गया है. इस सिनेमा से जुड़े लोगों का विश्वभर में बनने वाले हर तरह के सिनेमा के मध्य बोलबाला है. ठीक इसी प्रकार भारतीय कलाकारों की भी विदेशी मूवीज में उपस्थिति वक़्त-वक़्त पर नज़र आती रहती है. कई बड़े कलाकार आज हॉलीवुड में अपनी अलग इमेज पेश कर चुकें है. लेकिन क्या आपको पता है उस पहले एक्टर के बारे में जिसने हॉलीवुड में अपनी उपस्थिति मजबूती से दर्ज करवाई थी. जी हां, हम बात कर रहे हैं साबू दस्तगीर के बारे में.  तो चलिए जानते है उनके बारें में कुछ खास बातें.

साबू दस्तगीर का जन्म 27 जनवरी 1924 को मैसूर के महावत परिवार के बीच हुआ था. उनके पिता जी मृत्यु तब हुई थी जब साबू सिर्फ 9 वर्ष के ही थे. उन्हें बहुत ही ज्यादा गरीबी का सामना करना पड़ा था. राज घराने के रहमोकरम पर ही उनके परिवार का पालन पोषण होता था. साबू ने मात्र 13 वर्ष  की आयु में हॉलीवुड मूवीज में डेब्यू किया था और वो प्रथम इंडियन थे जिन्हें हॉलीवुड के किसी मूवी में काम करने का अवसर मिला. 1934 में ‘एलिफेंट बॉय’ नाम की मूवी की शूटिंग कर रहे अमेरिकी निर्देशक रोबर्ट फ्लेहर्टी ने साबू को अपने साथ जोड़ लिया.

महावत के रोल को निभा कर बन गए थे सबके पसंदीदा: इस मूवी  की कहानी का ताल्लुक साबू की जीवन के साथ मेल खाता है. ये एक युवा महावत के जीवन यात्रा की कहानी थी जिसका अभिनय साबू ने निभाया. इस मूवी को बहुत सफलता प्राप्त हुई थी. हर स्थान इस मूवी के चर्चे होने लगे. साबू की एक्टिंग ने आम दर्शकों के साथ-साथ समीक्षकों के दिल में एक अलग ही स्थान बना लिया था. जिसके उपरांत साबू ने हॉलीवुड में बड़ी पहचान बना ली. साबू 1960 में प्रतिष्ठित ‘Hollywood Walk of Fame’ में शामिल होने वाले पहले भारतीय कलाकार बने.

किसी भी भारतीय फिल्म में नहीं किया काम:  जिसके उपरांत साबू के अभिनय में अपने करियर की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने ने ‘द ड्रम (1938), थीफ ऑफ बगदाद (1940), अरेबियन नाइट्स (1942), जंगल बुक (1942), कोबरा वुमन (1944), सॉन्ग ऑफ इंडिया (1949) मजैसी फिल्मों में एक अभिनेता के तौर पर महत्वपूर्ण भूमिकाओं में दिखाई दिए. 1938 में आई ‘The Drum’ मूवी में उन्होंने ‘प्रिंस अजीम’ का रोल निभाया था जिसे भारत में बहुत पसंद किया गया था, लेकिन उनके साथ एक दिलचस्प बात ये है कि उन्होंने किसी भी हिंदी मूवी में एक्टिंग नहीं की. दुनिया की कई भाषाओं में मूवी की लेकिन इंडियन मूवीज में काम नहीं कर पाए. साबू का देहांत 2 दिसंबर 1968 में अमेरिका के लॉस एंजिल्स में दिल का दौरा पड़ने पड़ने की वजह से हुआ था. तब वो मात्र 39 वर्ष के थे.

ब्लैक कोट और डेनिम जींस पहने नज़र आई निकोल किडमैन

बारबाडोस के इवेंट में पहुंची रिहाना, सिंगर का लोग देख हर कोई हुआ हैरान

अवार्ड फंक्शन में अचानक कंधे से उतर गई इस मशहूर सिंगर की ड्रेस, वायरल हुआ VIDEO

Most Popular

- Sponsored Advert -