सबरीमाला मंदिर: श्रद्धालुओं के समर्थन में उतरी भाजपा, गिरफ़्तारी का आंकलन करने के लिए नियुक्त किया प्रतिनिधिमंडल

Nov 28 2018 12:17 PM
सबरीमाला मंदिर: श्रद्धालुओं के समर्थन में उतरी भाजपा, गिरफ़्तारी का आंकलन करने के लिए नियुक्त किया प्रतिनिधिमंडल

नई दिल्ली: केरल के परसिद्ध सबरीमाला में स्थित भगवान अयप्‍पा मंदिर पर चल रही राजनीति शांत होने का नाम नहीं ले रही है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अब सबरीमाला मंदिर को लेकर चल रहे आंदोलन में सत्याग्रहियों पर किए गए अत्याचारों और आंदोलन के दौरान पुलिस द्वारा किए गए अंधाधुंध गिरफ्तारी का आकलन करने के लिए भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल का गठन किया है.

मध्यप्रदेश चुनाव: शिवराज सिंह ने पत्नी साधना संग नर्मदा किनारे की पूजा

भाजपा की ओर से जारी बयान के अनुसार, भाजपा अध्यक्ष शाह द्वारा मंगलवार को गठित इस शिष्टमंडल में पार्टी महासचिव सरोज पांडेय, पार्टी की एससी ईकाई के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद सोनकर, सांसद प्रह्लाद जोशी तथा नलिन कुमार कतील को शामिल किया गया हैं. शिष्टमंडल सबरीमला के हालात पर जानकारी लेकर 15 दिन के भीतर उसकी रिपोर्ट शाह के सामने पेश करेगा. उल्लेखनीय है कि इससे पहले अमित शाह कह चुके हैं कि केरल सरकार भगवान अयप्पा के भक्तों के साथ अमानवीय व्यवहार कर रही है, जो कि काफी दुखदायक है. शाह ने कहा कि केरल की सरकार श्रद्धालुओं की आस्था को कुचलने में लगी है लेकिन भाजपा श्रद्धालुओं के साथ खड़ी है.

मिजोरम चुनाव: कड़ी सुरक्षा के बीच सभी 40 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी

इससे पहले भी शाह ने ट्वीट कर कहा था, 'अगर अयप्पा श्रद्धालुओं के कूड़े-कर्कट में रात बिताने की बातें सच हैं तो सीएम पिनरायी विजयन को ये समझना होगा कि वे श्रद्धालुओं से कैदियों की तरह व्यवहार नहीं कर सकते. शाह ने कहा था कि केरल सरकार उनकी आस्था को कुचल नहीं सकती है और हम ऐसा होने नहीं देंगे.' उन्होंने कहा, 'अगर पिनरई विजयन ये सोचते हैं कि भाजपा के जिला अध्यक्ष के सुरेंद्रन और 6 अन्य लोगों को गिरफ्तार कर वे जनआंदोलन का दमन कर सकते हैं तो वे गलती कर रहे हैं. हम हर उस अयप्पा श्रद्धालुओं के साथ पूरी तरह डटकर खड़े हैं जिसके दिल में सबरीमाला के रीति-रिवाज के प्रति सम्मान है.'

खबरें और भी:-

मध्यप्रदेश चुनाव: इंदौर, भोपाल में बढ़-चढ़कर हो रहा मतदान

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव: मतदान शुरू होने के बाद कई स्थानों पर खराब हुई ईव्हीएम

मध्यप्रदेश चुनाव: 2907 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे पांच करोड़ से ज्यादा मतदाता