कोरोना पर सबसे बड़ा खुलासा, रूस के अरबपतियों को अप्रैल में ही मिल गई थी वैक्सीन

मॉस्को: रूस में अभिजात्य वर्ग को अप्रैल माह में ही कोरोना की वैक्सीन दिए जाने संबंधी हैरतअंगेज़ खुलासा हुआ है. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, एल्युमूनियम कंपनी यूनाइटेड Co. Rusal के अधिकारी सहित रूस के अरबपतियों और सरकारी अफसरों को अप्रैल के महीने से ही वैश्विक महामारी कोरोना वैक्सीन की डोज दी जा रही है.

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग के बीच मॉस्को की सरकारी कंपनी Gamaleya Institute ने वैक्सीन को निर्मित किया है. Gamaleya वैक्सीन को रूसी प्रत्यक्ष निवेश फंड से वित्तीय सहायता मिलने की बात सामने आई है. इसके पीछे रक्षा मंत्रालय का समर्थन भी हासिल है. Gamaleya वैक्सीन का पिछले सप्ताह सैन्य अधिकारियों पर फेज 1 का ट्रायल संपन्न कर लिया गया. वैक्सीन की तैयारी से संबंधित लोगों ने नाम नहीं उजागर ना करने की शर्त पर बताया है कि Gamaleya वैक्सीन रूसी सरकार के प्रत्यक्ष निवेश से बनाई जा रही है.

प्रथम चरण के परिणाम लोगों के सामने जाहिर नहीं किए गए हैं. लेकिन वैक्सीन के ट्रायल का दूसरा चरण आरंभ कर दिया गया है, जिसमें अधिक बड़े समूहों को शामिल किया गया है. Gamaleya Institute ने शोध के परिणामों को प्रकाशित नहीं किया है. उसके वैक्सीन का परिक्षण 40 लोगों पर किया गया था.

अफगानिस्‍तान में फिर हुआ आतंकी हमला, 8 सैनिक हुए शिकार

WHO ने फिर चेताया, कोविड से 5 लाख जनजाति समुदाय पर मंडरा रहा संकट

दक्षिण अफ्रीका में टूटा मौत का रिकॉर्ड, सरकार की चिंता बढ़ी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -